किसी भी कारण उदास रहना, रोना यह बहुत ही आम हैं। लेकिन महीने महीने तक उदास रहना, लाचार, चुप रहना, कुछ करने में मन नहीं लगना, व्यवहार में बदलाव आ जाना यह सब डिप्रेशन की ओर संकेत करता है। डिप्रेशन ऐसा मानसिक रोग है जो किसी व्यक्ति को अकेल महसूस करवाता है, सुसाइड करने के लिए उकसाता है। यह अलग-अलग प्रकार के होते हैं जो किसी व्यक्ति पर गंभीर असर भी कर सकते हैं। इसीलिए इसे नजरअंदाज ना करें डिप्रेशन के लक्षण देखने के बाद डॉक्टर को कंसल्ट जरूर करें।

1. आशाहीन महसूस करना

डिप्रेशन के कारण हम आत्मविश्वास खो देते हैं और इसका प्रभाव हमारे मूड पर भी होता है। हम आशाहीन महसूस करने लगते हैं। यहां तक कि अपने आप से घृणा भी करने लगते हैं। बेमतलब की बातों के लिए अपने आप को कोसते हैं। लेकिन किसी भी परिस्थिति में अपना आत्मविश्वास कभी नहीं होना चाहिएं। उस समस्या से लड़ने की कोशिश करनी चाहिए।

2. चीजों से मन भर जाना

डिप्रेशन हमारी खुशी, हंसी सब छीन लेती है। इसके कारण किसी भी चीजों में, अपने मनपसंद कामों को करने या दोस्तों के साथ समय बिताने तक में मन नहीं लगता। इसका असर सेक्स लाइफ पर भी होता है, सेक्स करने का भी मन नहीं करता।

3. थकान महसूस करना या नींद कि बीमारी होना

डिप्रेशन हमेशा हमारे अंदर की एनर्जी को कम कर देता है जिसके कारण हमें ज्यादा थकान महसूस होती है। यह भी एक कारण है कि हमें और कामों को करने मन नहीं लगता। इसके अलावा नींद पर भी इसका असर होता है। हमें बहुत ज्यादा नींद आने लगती है या बिल्कुल नींद नहीं आती हैं इसे इनसोम्निया(insomnia) भी कहते हैं।

4. चिड़चिड़ापन महसूस होना

हमेशा चिड़चिड़ा महसूस करना, गुस्सा आना यह सब डिप्रेशन के आम लक्षण है। इसके कारण लोगों से बात तक करने का मन नहीं करता, सबके होते हुए भी अकेला महसूस होता है। दिन भर अकेले रहने का मन करता है। इसका प्रभाव खाने पर भी पड़ता है किसी को ज्यादा तो किसी को कम भूख लगने लगती है।

5. सुसाइड जैसे ख्याल आना

इसके कारण अपने आप से घृणा हो जाती है और सुसाइड करने के लिए मजबूर कर देती हैं। लेकिन हमारे मन में जब भी ऐसा कोई ख्याल है तो हमें अपनों से बात करना चाहिए ,उन्हें अपनी समस्या बतानी चाहिए। आत्महत्या करना बहुत बड़ा कदम है ऐसा करने से किसी भी समस्या का कोई हल नहीं निकलता है।

 

Email us at connect@shethepeople.tv