कर्नाटक में 14 जनवरी यानी मकर संक्रांति के बाद प्रथम और द्वितीय वर्ष के कॉलेज छात्रों की रेगुलर क्लासेस दोबारा चालू होंगी। कोरोना महामारी- लॉकडाउन की वजह से राज्य में रेगुलर क्लासेस लगभग 9 महीनों से नहीं हो रही थी। ज्यादतर कॉलेजेस में ऑनलाइन मोड से पढ़ई चल रही है।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डॉ सी एन अश्वथ नारायण, जिनके पास हायर एजूकेशन का पोर्टफोलियो है, ने शुक्रवार को प्रदेश में प्रथम और द्वितीय वर्ष के बच्चों के लिए रेगुलर क्लासेस चालू करने की घोषणा करते समय सरकारी और प्राइवेट यूनिवर्सिटी के वाइस- चांसेलर्स व हायर एजूकेशन समेत सभी डिपार्टमेंट के सीनियर ऑफिशियलस से एक मीटिंग में क्लासेस दोबारा स्टार्ट करने के लिए डेट सजेस्ट करने को कहा है।

कर्नाटक में 14 जनवरी यानी मकर संक्रांति के बाद प्रथम और द्वितीय वर्ष के कॉलेज छात्रों की रेगुलर क्लासेस दोबारा चालू होंगी। कोरोना महामारी- लॉकडाउन की वजह से राज्य में रेगुलर क्लासेस लगभग 9 महीनों से नहीं हो रही थी।

सभी वाइस चांसलर्स ने उपमुख्यमंत्री नारायण के साथ एक मीटिंग में हिस्सा लिया और सभी लोग रेगुलर क्लासेस स्टार्ट करने को लेकर एकमत थे। सभी ऑफलाइन क्लासेस के पक्ष में थे।

उपमुख्यमंत्री नारायण ने सभी को डेट्स सजेस्ट करने के लिए कहा है। सबके सजेशन आ जाने के बाद ही डेट फिक्स की जाएगी। डिग्री, पोस्ट ग्रैजुएशन, डिप्लोमा और इंजीनियरिंग के सभी प्रथम और द्वितीय वर्ष के बच्चों की रेगुलर क्लासेस लगेंगी। इस फै़सले की सफ़लता को देख कर बाकी क्लासेस लगवाने का निर्णय लिया जाएगा। अभी तक केवल ये निश्चित किया गया है कि 14 जनवरी के बाद ही क्लासेस लगेंगी।

राज्य में स्कूल और प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेजेस 1 जनवरी, 2021 से ही खुल गयी हैं यानी कि इनकी रेगुलर/ऑफलाइन क्लासेस लग रही हैं। राज्य सरकार ने सभी हायर ऑफिशियल्स और कॉलेजेस के हेड्स को कोरोना से जुड़ी सभी गाइडलाइंस और SOP का सख्त रूप से पालन करने को कहा है।

पढ़िये:  गुजरात में 11 जनवरी से स्कूल्स और कॉलेजेस दोबारा खोले जा रहे हैं

Email us at connect@shethepeople.tv