blog

लड़कियों में प्यूबर्टी के दौरान होने वाले बदलाव

Published by
Nayan yerne

लड़कियों में नौ से ग्यारह साल की उम्र के बीच में अचानक से बदलाव दिखने शुरू हो जाते हैं। बच्चियां अचानक हुए इन बदलावों को समझ नहीं पाती हैं। ऐसे में बतौर पेरेंट्स आपको उसके शरीर में आने वाले बदलावों के बारे में बताना चाहिए। लड़कियों में प्यूबर्टी

क्या है लड़कियों में प्यूबर्टी?

लड़कियों में प्यूबर्टी  (Puberty) को आसान भाषा में ‘बड़े मानसिक और शारीरिक विकास होना’ या ‘व्यस्क अवस्था तक पहुंचना’ कहा जा सकता है। इस अवस्था में लड़कियों में होता है। इस दौरान लड़कियों के शरीर में बहुत सारे बदलाव होते हैं।

लड़कियों में प्यूबर्टी को दौरान होने वाले बदलाव

स्‍तनों का विकास (Breast)
माहवारी (Periods)
व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge)
जनानांगों पर बाल (Pubic Hair)
हार्मोस में होते है बदलाव
मुंहासे (Acne)
बढ़ती लंबाई

आप अपने शरीर में होने वाले बदलावों को जितना जल्दी स्वीकार करेंगी आपके लिए उतना साकारत्मक होगा। ये तो बात हो गई लड़कियों में प्यूबर्टी की, अब बात करते हैं कि पहले पीरियड्स के लिए लड़कियों को कैसे तैयार करें।

1- बात शुरू करने के लिए सहज माहौल बनाएं

आजकल 11 साल की ज्यादातर लड़कियों के पीरियड शुरू हो जा रहे हैं। हो सकता है कि आप अपनी बेटी से बात करने में सहज महसूस न करें। बेटी से बात करने से पहले खुद से पूछ लें कि आप तैयार हैं या नहीं? बेटी से पीरियड्स पर बात शुरू करने से पहले माहौल को सहज बनाएं और दोस्त की तरह बात करें। हो सकता है कि आपकी बेटी इस बात को जानने के लिए बहुत छोटी है। यह सब उसके लिए एक झटके की तरह हो सकती हैं। अगर बेटी के मन में पीरियड्स को लेकर कोई सवाल है तो उनका जवाब जरूर दें। उसे बताएं कि सवाल पूछने में कोई बुराई नहीं है।

2- शुरू से बातों का करें आगाज

अपनी बेटी को बताएं कि उसकी उम्र क्या है और उसके पीरियड्स कब तक आ सकते हैं। इसके लिए उसे बेसिक जानकारी दें। बेटी को बताएं कि पीरियड्स एक नियमित और प्राकृतिक क्रिया है। अगर कभी भी कपड़े में ब्लड लगा रहे तो देख कर ना घबराएं। उसे बताएं कि पीरियड्स में आने वाला ब्लड आखिर आता कहां से है। पीरियड्स में आने वाले ब्लड का रंग कैसा होता है। पीरियड्स कितने दिनों तक रहते हैं। बेटी को पीरियड्स में साफ-सफाई कैसे रखनी हैं। वह पैड को कैसे इस्तेमाल करे यह सारी बातें आप अपनी बेटी को बताएं।

3- बेटी के सामने तैयार करें पीरियड्स किट

जरूरी नहीं है कि जब आपकी बेटी का पीरियड आए तो वह घर में ही रहे। वह स्कूल में भी हो सकती है। इसलिए उसके लिए दो पीरियड किट तैयार करें। ताकि जब आप उसके साथ ना रहे तो वह इसका इस्तेमाल अच्छे से कर सके। अब सवाल यह उठता है कि पीरियड किट में आखिर क्या-क्या चीजें होनी जरूरी है। एक पाउच बैग में निम्न चीजों को जरूर रखें।

  • चार सैनिटरी नैपकीन
  • एक जोड़ी पैंटी
  • एक पेपरबैग

इन चीजों के साथ ही किट में पैड्स को इस्तेमाल करने का तरीका जरूर लिखकर रखें। एक किट आप अपने पास भी रखें ताकि, कहीं बाहर होने पर अगर बेटी के पीरियड्स आ जाए तो इस्तेमाल कर सके।

पढ़िए -जानिए अपने बच्चों को किस तरह सेक्स एजुकेशन दें

Recent Posts

क्यों है सिंधु गंगाधरन महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन? जानिए ये 11 कारण

अपने 20 साल के लम्बे करियर में सिंधु गंगाधरन ने सोसाइटी की हर नॉर्म को…

1 hour ago

श्रद्धा कपूर के बारे में 10 बातें

1. श्रद्धा कपूर एक भारतीय एक्ट्रेस और सिंगर हैं। वह सबसे लोकप्रिय और भारत में…

2 hours ago

सुष्मिता सेन कैसे करती हैं आज भी हर महिला को इंस्पायर? जानिए ये 12 कारण

फिर चाहे वो अपने करियर को लेकर लिए गए डिसिशन्स हो या फिर मदरहुड को…

2 hours ago

केरल रेप पीड़िता ने दोषी से शादी की अनुमति के लिए SC का रुख किया

केरल की एक बलात्कार पीड़िता ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख कर पूर्व कैथोलिक…

5 hours ago

टोक्यो ओलंपिक : पीवी सिंधु सेमीफाइनल में ताई जू से हारी, अब ब्रॉन्ज़ मैडल पाने की करेगी कोशिश

ओलंपिक में भारत के लिए एक दुखद खबर है। भारतीय शटलर पीवी सिंधु ताई त्ज़ु-यिंग…

5 hours ago

वर्क और लाइफ बैलेंस कैसे करें? जाने रुटीन होना क्यों होता है जरुरी?

वर्क और लाइफ बैलेंस - बहुत बार ऐसा होता है जब हम अपने काम में…

6 hours ago

This website uses cookies.