हमारे देश में लड़कियों को उनकी हर बात और हर आदत के लिए जज किया जाता है। हमारी सोसाइटी ही ऐसी है जिसमें अगर कोई लड़की उनके बनाए हुए ढांचे में फिट नहीं हुई तो फिर वो गलत बन जाती है। हम आए दिन अपने घर-परिवार में ये देख सकते हैं की अगर कोई लड़की सोसाइटी की सहूलियत के हिसाब से आज्ञाकारी नहीं है तो फिर उसे कई अतरंगी नाम दे दिए जाते हैं। फैमिलीज़ की अपनी बेटियों को आइए डिसफंक्शनल टाइटल्स देने की प्रथा बहुत पुरानी है। जानिए ऐसे ही कुछ डिसफंक्शनल टाइटल्स जो फैमिलीज़ अपनी बेटियों को देती है:

1. डिफिकल्ट

अगर कोई लड़की अपने घर वालों की बात को आँख बंद करके नहीं मानती है और उसकी नज़र में होने वाली हर गलत चीज़ का विरोध करती है तो फैमिलीज़ में उसे डिफिकल्ट कह दिया जाता है। आम तौर पर ये देखा जाता है की ऐसे टाइटल्स एक लड़की को उसके रिलेटिव्स दे देते हैं क्योंकि वो उनकी दकियानूसी सवालों का मुँह तोड़ जवाब देती है। ऐसा करके लोग ना सिर्फ उस लड़की की हर बात के पीछे के लॉजिक से मुँह मोड़ते हैं बल्कि अपनी रिस्पांसिबिलिटी से भी हाथ धोते हैं।

2. गुड गर्ल

ये सोसाइटी के द्वारा दिया जाने वाला गुड गर्ल का टैग आज भी कुछ लड़कियों को खुश कर देता है। लोग गुड गर्ल उसे कहते हैं जो सोसाइटी की हर बात चुप चाप मान लेती है। ऐसी लड़कियां सोसाइटी को बहुत पसंद आती है क्योंकि इन पर वो अपना कोई भी हुकुम चला सकती है और इनसे वो अपनी कोई भी बात मनवा सकती है। इस टाइटल से बूरा कुछ भी नहीं है। इसलिए अगर आपको भी कोई गुड गर्ल कहे तो इस विषय में ज़रूर सोचें।

3. मैनीपुलेटर

जब कोई लड़की अपनी बात मनवाना जानती है तो उसे फैमिलीज़ और सोसाइटी में मैनीपुलेटर का दर्जा दे दिया जाता है। सोसाइटी को पता नहीं क्यों ये बात समझ में नहीं आती एक लड़की की सही बात मानाने में कुछ बुराई नहीं है। कमाल की बात तो ये है की यही सोसाइटी लड़के की हर बात चुप चाप मान लेती है क्योंकि उसे टैंट्रम फेंकने का पूरा हक़ है। ये टाइटल सोसाइटी के डबल स्टैंडर्ड्स को बखूभी दर्शाता है।

4. लॉस्ट चाइल्ड

एक लड़की जब इस सोसाइटी के स्टैंडर्ड्स के हिसाब से नहीं बल्कि अपने इमेजिनाशंस के हिसाब से आगे बढ़ती है तो सोसाइटी उसे लॉस्ट चाइल्ड का टाइटल दे देती है। इस टाइटल के थ्रू सोसाइटी उस लड़की को ये समझाना चाहती है की उसमे कमियां है और वो उसे जल्दी सुधार लेनी चाहिए। अगर आपको भी कोई लॉस्ट चाइल्ड कहे तो प्लीज बुरा ना मानें बल्कि लोगों को समझाएं की अपने हिसाब से चीज़ें करने में कुछ गलत नहीं है।

5. बेशर्म लड़की

ये सोसाइटी का पसंदीदा टाइटल है। किसी लड़की ने सोसाइटी के हिसाब से बोल्ड कपड़ें पहने हो या फिर कोई लड़की कभी किसी बड़े को पलट कर जवाब दे दे, इस सोसाइटी की नज़र में वो तुरंत से बेशर्म हो जाती है। हमारे घर में भी कई बार हमें अपनी बातों और सवालों कके लिए बेशर्म कह दिया जाता होगा। एक लड़की पर ये शब्द बार-बार से उस पर बुरा प्रभाव पर सकता है। अगर कोई अगली बार आपको बेशर्म कहे तो इसे चुपचाप सुनने के बजाय इस बात का विरोध करिएगा।

Email us at connect@shethepeople.tv