विदेश में सेक्स टॉक का इस्तेमाल करना आम बात है वही अब भारत में भी सेक्स टॉयज से जुड़ी बातें होने लगी हैं और लोग इसमें दिलचस्पी दिखाने लगे हैं। यहां तक कि अब ऐसी कुछ सीरीज भी बनती है जिसमें सेक्स टॉयज का इस्तेमाल किया जाता है या उसके बारे में दिखाया जाता है। साथ ही भारत में कई लोग इसे खरीदने और इस्तेमाल भी करने लगे हैं। सेक्स टॉयज ऐसा टॉय जो हमें चरम संतुष्टि देता है। सेक्स टॉय के होने से हमें किसी पर सेक्सुअल प्लेजर के लिए निर्भर नहीं रहना पड़ता है। तो आइए कुछ ऐसे ही सेक्सट्रायस के बारे में जानते हैं जिसका ज्यादा इस्तेमाल होता है।

1. वाइब्रेटर(vibrator)

यह सेक्स टॉय ऐसा है जो वाइब्रेट करता है इसे शरीर में सेक्स करने के लिए उत्तेजना पैदा होती। अलग-अलग आकार और दामों में दोनों देश विदेशी कंपनियों का वाइब्रेटर उपलब्ध है। उनमें से कुछ कह नाम है पार्टनर वेल, दमे ज़ी, पोम और आदि। पार्टनर वेल विशेष रूप से कपल के लिए बना है। इसमें दो मोटर्स लगे हैं जो आपके पार्टनर और आपको एक ही समय पर प्लेजर देगा।

2. दिल्डोस(Dildos)

यह डिवाइस वेजाइना और अनस के अंदर जाता है। किर्लोस्कर कई तरह के शेप और साइज में आता है लेकिन ज्यादातर पेनिस के आकार में होता है। दिल और अलग-अलग मटेरियल से बना है जैसे कि सिलिकॉन, मेटल, रबर, प्लास्टिक और ब्रेक रेसिस्टेंट ग्लास। इससे कोई भी इंफेक्शन नहीं होगा इसलिए इसका इस्तेमाल करना पूरी तरह सुरक्षित है।

3. स्लीव्स(sleeves)

इसे मेस्ट्रूबेशन स्लेव्स(masturbation sleeves)भी कहा जाता है। इसमे सॉफ्ट ट्यूब होता है जिसमें पेनिस रखा जाता है। यह अलग-अलग आकार और साइज में आता है, साथ ही इसके अंदर में अलग तरह के बनावट भी होते है। कुछ में वाइब्रेटर और सक्शन भी लगे रहते हैं।

4. हरनेसेस(Harnesses)

ऐसे गारमेंट्स के अंदर कई तरह के सेक्स टॉयज लगे होते हैं। इन्हें अंडरवियर या जॉक स्ट्रप्स की तरह पहना जाता है।

5. निप्पल टॉय(Nipple Toy)

यह तो विशेष रूप से महिलाओं के लिए हैं जिसका इस्तेमाल महिलाओं के अंदर उत्तेजना पैदा करने के लिए किया जाता हैं। यह डिवाइस निप्पल के अलग-अलग कोनों में दबाव डालती है और इसका इस्तेमाल करने से दर्द नहीं होता है। यह मशीन आज के दौर में काफी लोकप्रिय है।

Email us at connect@shethepeople.tv