जब भी आप किसी को पसंद करते हैं और उसके साथ रिलेशनशिप में आने का सोचते हैं, आपके मन में ढेरों सवाल आते हैं, “क्या वो मुझे पसंद करता/करती है? “, “क्या हम एक दूसरे के लिए सही हैं? “, “हमारा कोई फ़्यूचर है या नहीं?”, “कहीं हम जल्दबाज़ी तो नहीं कर रहे?” वग़ैरह। कहते हैं ‘प्यार से दिल से किया जाता है’ लेकिन रिलेशनशिप का नाम आते ही आपका दिमाग़ ज़ोरों से चलने लगता है, आप हर पहलू के बारे में सोचने लगते हैं और ये सही भी है। रिलेशनशिप में जाने से पहले आपको कुछ बातों के बारे में विचार कर लेना चाहिए।

image

आइये देखते हैं कि नए रिलेशनशिप की शुरुआत करने से पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

1. क्या आप तैयार हैं?

कई बार आपके पास्ट एक्सपीरिएंसेस इतने बुरे होते हैं कि आप उससे ठीक तरह से उबर नहीं पाते। ऐसे में आपको एक नए रिलेशनशिप की शुरुआत करने से पहले ख़ुद को थोड़ा समय देना चाहिए ताकि बीती बातों के रिपीट होने का डर आपके आने वाले कल को न खराब करदे।
जब तक आपके अंदर विश्वास की कमी रहेगी, आप न तो ख़ुद खुश रह पाएँगे न अपने पार्टनर को खुश रख पायेंगे। आपमें पर्याप्त कॉन्फ़िडेंस आ जाए, तभी रिलेशनशिप में कदम रखें।

2. क्या आप उन्हें सच में पसंद करते हैं?

कभी भी अपने अकेलेपन को दूर करने के लिए बॉयफ़्रेंड या गर्लफ्रेंड का सहारा न लें। रिलेशनशिप में केवल तब आएँ जब आप सच में सामने वाले व्यक्ति को पसंद करते हों। अपने पार्टनर से प्यार करिये, उसपर निर्भर मत बनिए।

3. क्या ये सही समय है?

किसी से प्यार करने का कोई सही या गलत समय नहीं होता पर रिलेशनशिप में आने के लिए आपके पास समय होना ज़रूरी है। अगर आपको लगता है कि अभी आपकी लाइफ़ बहुत बिज़ी है तो कुछ दिन रुकना ही ठीक रहेगा क्योंकि रिलेशनशिप के शुरुआती समय में अपने पार्टनर को टाइम देना बहुत ख़ास और ज़रूरी होता है। शुरुआती समय में साथ न हो पाने की वजह से आपके रिश्ते में तनाव आ सकता है।

4. क्या वो आपके लिए सही हैं?

रिलेशनशिप में आने की जल्दबाज़ी न करें। हो सकता है आप किसी की ओर आकर्षित हैं लेकिन आप दोनों के विचार बिल्कुल नहीं मिलते, ऐसे में टकराव होने के चांसेस बढ़ जाते हैं इसलिए रिलेशनशिप में आने से पहले एक दूसरे को अच्छे से जान लेना चाहिए। बाद में रिग्रेट करने से अच्छा होता है सोच समझ कर फै़सला लेना।

5. क्या आप अपने रिलेशनशिप गोल्स को लेकर क्लियर हैं?

आप कैसा रिलेशनशिप चाहते हैं (लम्बा या छोटा), आपकी अपने पार्टनर से क्या उम्मीदें हैं वग़ैरह, ये सब पहले से तय कर लें। ऐसा न हो कि आप ज़िंदगी भर साथ रहने के सपने सजा रहे हों जबकी आपके पार्टनर टेंपररी रिलेशनशिप चाहते हों। साथ होने के लिए दो लोगों के रिलेशनशिप गोल्स मैच होने भी ज़रूरी हैं।

पढ़िए : कौन होती है ‘Trophy Wife’ ? क्यों मुझे इस Concept से नफरत है

Email us at connect@shethepeople.tv