अडॉप्शन (adoption) , एक ऐसा डिसीजन है जो दुनिया के कुछ ही लोग ले पाते हैं। अडॉप्शन दोनों, बच्चे और माँ बाप के लिए एक नयी ज़िन्दगी की तरह होता हैं। पर हां ,आस-पास के कुछ लोग होते है जो जानबूझकर या फिर अनजाने में ही उन्हें अपनी बातों से हर्ट कर देते है। नीचे कुछ ऐसी बातें लिखी गई है जो आपको एक Adoptive Parent से नहीं पूछनी चाहिए (Things you should not tell an adoptive parent in Hindi)।

image

Adoptive Parents भी नॉर्मल पेरेंट्स की तरह ही होते हैं। वो भी अपने बच्चों को लेकर उतने ही possessive होते हैं जितने हर माँ-बाप होते हैं। वो भी अपने बच्चे को दुनिया की हर ख़ुशी देना चाहते हैं जैसे हर माँ-बाप चाहते है।

6 बातें जो Adoptive Parents से नहीं पूछनी चाहिए 

1. उनसे यह न पूछें कि उनके अपने बच्चे क्यों नहीं हैं :

पेरेंट्स से ये पूछना की उनके खुद के बच्चे क्यों नहीं है, यह न केवल काफ़ी गलत है, बल्कि ये सुनने से ऐसा लगता है जैसे उनके परिवार को बढ़ाने के लिए गोद लेना ही अंतिम उपाय था। गोद लिए हुए बच्चों को ये सवाल सुनके ऐसा फील हो सकता जैसे वो उनके पेरेंट्स की आखिरी होप हैं। कोई भी माता-पिता ये नहीं चाहेगा की उनके बच्चो को ऐसा फील हो।अडॉप्टेड बच्चे अपने adoptive माता-पिता के हैं – वे उनके अपने बच्चे हैं। किसी को भी ऐसे insensitive प्रश्न को पूछने की आवश्यकता नहीं है।

2. यह मत पूछो कि बच्चा कहां से आया है :

अगर बच्चा माता-पिता से दिखने में अलग है या फिर वो उसी कंट्री का नहीं हैं , तब भी किसी को भी उनसे ये नहीं पूछना चाहिए की वो बच्चा कहा से लाये है या ये बच्चा किस कंट्री का हैं । कुछ चीज़े ऐसी होती है जो प्राइवेट रहे तो अच्छी। अगर adoptive पेरेंट्स आपको सामने से इसके बारे में बताये तो वो ठीक है लेकिन अगर आपने उनसे ये सवाल पूछा तो वो बहुत ही गलत होगा । इससे कभी-कभी बच्चे को भी अपने नए पेरेंट्स को एक्सेप्ट करने में दिक्कत हो सकती हैं। ये बाते उन्हें हमेशा याद दिलाती रहेंगी की वो adopted हैं और उनके माँ बाप ने उन्हें जन्म नहीं दिया हैं।

3. बेटा या बेटी से पहले “adopted” शब्द का यूज़ न करे:

माता पिता “गोद” लिए हुए बच्चों को परिवार मानते है और बच्चे भी उन्हें खुद के माता-पिता मानते है। वो उनके बच्चे होते है और बच्चों के लिए वो उनके माँ-बाप होते है। जब भी आप किसी ऐसे बच्चे को बुला रहे हो जो परिवार में ‘adopted’ है तो बेहतर होगा अगर आप ‘adopted” शब्द की जगह या तो उनका नाम ले या फिर बोले कि उनका बेटी या उनकी बेटी।

4. गोद लेने की कॉस्ट के बारे में न पूछे :

गोद लेना महंगा हो सकता है, और international adoption लेने से जुड़ी कॉस्ट पर अक्सर बहुत डिस्कशन की जाती हैं। फिर भी, adoptive माता-पिता से अपने बच्चे को गोद लेने पर खर्च किए गए पैसे के बारे में पूछना गलत हैं। अगर ये सवाल तब पूछा जाये जब वहाँ गोद लिए गए बच्चे मौजूद हैं, तो ये बहुत ही गलत साबित हो सकता है। बच्चों को ये सवाल सुनने से ऐसा फील हो सकता है की उसकी कोई मॉनेटरी वैल्यू है मतलब की वो कुछ पैसो में खरीदा जा सकता हैं। इसकी वजह से माँ-बाप और बच्चों के बीच कई ऐसी फीलिंग्स आ सकती है जो नहीं आनी चाहिए।

5. प्यार सभी फैमिलीज़ में होता है :

किसी भी व्यक्ति के जीवन में एक बच्चे को बड़ा करने का निर्णय लेना एक सबसे ज़रूरी डिसीजन होता है, और इसे सेलिब्रेट किया जाना चाहिए। adoptive परिवार असल में हमारी कम्युनिटी के लिए एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट योगदान देते है और हमे इसके लिए उनकी मुश्किलें नहीं बढ़ानी चाहिए। याद रखना चाहिए की हर परिवार प्यार से ही बनता हैं। चाहे वो adoptive हो या non-adoptive, प्यार उनमें भी है.

6. जन्म देने वाले माता-पिता का नाम न पूछे :

याद रखे की कभी भी आपको adoptive बच्चों से उनके असली, मतलब उन्हें जन्म देने वाले माँ-बाप का नाम नहीं पूछना चाहिए। चाहे उन्हें किसी ने भी जन्म दिया हो , असली माँ बाप उनके वही है जो उसे प्यार करते है, जिनके साथ वो खुश रहते है। जन्म देने वाले माँ-बाप के बारे में पूछने से बच्चे को इमोशनल ट्रॉमा हो सकता हैं। खुद के काम से काम रखना भी ज़रूरी होता है। उनको उनकी खुशहाल ज़िन्दगी जीने दे।

Email us at connect@shethepeople.tv