फ़ीचर्ड

Weird Customs: 5 बातें जिन्हें इंडियन सोसाइटी को आज कस्टम नहीं बुलाना चाहिए

Published by
Ritika Aastha

इंडियन सोसाइटी अपने कस्टम्स को लेकर आज भी काफी पुरातन और आउटडेटेड सोच रखती है। सोसाइटी आज भी कई तरह के दकियानूसी कस्टम्स को इतने आँख बंद करके फॉलो करती है कि इससे रिलेटेड वो किसी तरह की आर्ग्युमेंट सुनने के लिए भी तैयार नहीं है। हम में से हर किसी ने ऐसे कस्टम्स और रीचुवल्स किसी न किसी इवेंट में ज़रूर विटनेस किए होंगे जिनका कोई लॉजिक हमें समझ में नहीं आया होगा। लेकिन हम अगर इसपर अपनी आवाज़ उठाएंगे तो हमें उसी वक़्त चुप भी करा दिया जाता है। अपने बनाए गए तौर-तरीकों को लेकर सोसाइटी किसी तरह का दखल बर्दाश्त ही नहीं करना चाहती है। जानिए ऐसी 5 बातें जिन्हें आज कस्टम की तरह यूज़ नहीं करना चाहिए इंडियन सोसाइटी को:

1. दामाद के पैर धोना

इंडियन सोसाइटी का आज भी ये नियम है कि बेटी के शादी वाले दिन से लेकर जब तक हो सके, पेरेंट्स अपने दामाद के पैर खुद धोते हैं। जहाँ एक ओर ये आज भी सोसाइटी में बिछे हुए इनक्वॉलिटी को बयां करता है वहीं दूसरी तरफ इसके कारण बड़े-बुजुर्गों का अपमान भी होता है। इसके थ्रू एक लड़की को ये समझाया जाता है कि उसकी “रिस्पांसिबिलिटी” उठाने वाले इंसान की “सेवा” करनी कितनी ज़रूरी है। ये कस्टम अगर जल्द ख़त्म नहीं हुआ तो समाज से इनक्वॉलिटी कभी जा ही नहीं पायेगी।

2. पति के पैर छूना

आपने भी ये कभी ना कभी तो अपने आस-पास ये ज़रूर देखा होगा कि महिलाएं अपने पति के पैर छूती हैं। इस कस्टम का इसलिए कोई मायने-मतलब नहीं बनता है क्योंकि शादी तो दो इक्वल लोगों के बीच होती है ना फिर पति को “अपरहैंड” कैसे मिल जाता है। लेकिन आज भी हम कई फेस्टिवल्स में महिलाओं को ऐसा करते हुए देख सकते हैं। ये कस्टम सॉईटी की वहीं पुरानी सोच का एक्सटेंशन है कि पति भगवन होता है।

3. बिना किसी शर्म के दहेज़ का लेन-देन

आज भी जिस तरह सोसाइटी में दहेज़ का लेन-देन चलता है, ये समझना बहुत मुश्किल हो गया कि वाकई सोसाइटी में एड्यूकेटेड लोग बढे हैं भी या नहीं। दहेज़ को आज भी किसी भी शादी को फ़िनलाईज़ करने का सबसे इम्पोर्टेन्ट फैक्टर माना जाता है। आज भी उसी शान से लड़के वाले अपने बेटे को दहेज़ के नाम पर सबसे ज़्यादा रुपियों के लिए बेच देते हैं। फिर चाहे सरकार कितने भी कानून लगा दें, दहेज़ प्रथा के अंत की अभी भी कुछ उम्मीद नहीं की जा सकती है।

4. पति के लिए फ़ास्ट रखना

हमारी सोसाइटी में किसी के मेडिकल हिस्ट्री को देखने की ज़रूरत नहीं है, सिर्फ पत्नी के बार-बार फ़ास्ट रखने से पति की उम्र बढ़ जायेगी। सोसाइटी आज भी इस घटिया सोच से आगे नहीं बढ़ पाया है और आज भी महिलाएं इस रिचुअल का पालन करती हैं। किसी और की उम्र बढ़ाने के लिए किसी और का फास्टिंग ऑब्ज़र्व करना अगर अजीब नहीं है तो क्या है?

5. महिलाओं का पूरे घर के बाद खाना खाना

कई घरों में आज भी ये मान्यता है कि महिलाओं को घर के सभी सदस्यों के बाद ही खाना खाना चाहिए। इस कस्टम का जन्म इस बिलीफ पर हुआ है कि मर्द घर का “ब्रेडविनर” होता है और इसलिए उसकी हर इच्छा का पालन होना ज़रूरी है और वहीं महिलाएं दिनभर में ऐसा भी कौन सा काम करती हैं जो उन्हें अपने पसंद का खाना बनाने या खाने का हक़ हो। चाहे परिस्थिति कितनी भी गंभीर क्यों ना हो जाए इस कस्टम में ज़्यादा बदलाव अक्कपेट नहीं किया जाता है और अगर कोई इसके खिलाफ कुछ कहे तो उसे बड़ों से बदतमीज़ी के लिए सुनाया जाता है।

Recent Posts

Tokyo Olympic 2021 : क्यों कर रहे हम टोक्यो ओलंपिक्स में महिला एथलिट को सेलिब्रेट?

इस बार के टोक्यो ओलिंपिक 2021 में महिला एथलिट ने साबित कर दिया है कि…

9 mins ago

TOKYO ओलंपिक्स 2020 : अदिति अशोक कौन हैं? क्यों हैं यह न्यूज़ में?

भारतीय महिला गोल्फर अदिति अशोक पहली बार सबकी नज़र में 5 साल पहल रिओ ओलंपिक्स…

51 mins ago

Delhi Cantt Minor Girl Rape : दिल्ली कैंट में माइनर दलित लड़की का रेप किया और जान से मारा

माइनर दलित लड़की का रेप - नई दिल्ली जिसे हमारी इंडिया की रेप कैपिटल कहा…

1 hour ago

गहना वशिष्ठ का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल : इंस्टाग्राम पर नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या यह अश्लीलता है?

गंदी बात अभिनेत्री गहना वशिष्ठ (Gehana Vasisth) की एक इंस्टाग्राम लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर…

3 hours ago

बच्चों को कोरोना कितने दिन तक रहता है? लांसेट स्टडी में आए सभी जवाब

कोरोना की तीसरी लहर जल्द ही शुरू होने वाली है और एक्सपर्ट्स का ऐसा कहना…

4 hours ago

गहना वशिष्ठ वायरल वीडियो : कैमरे के सामने नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील लग रही है ?

वशिष्ठ ने कैमरे के सामने नग्न होकर अपने दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील…

4 hours ago

This website uses cookies.