मिताली राज भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी और टीम की मौजूदा कप्तान हैं। वे टेस्ट क्रिकेट मैच में दोहरा शतक बनाने वाली पहली महिला है। मिताली का मानना है कि “महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। उसके लिए अच्छे स्पांसर को आगे आना चाहिए।” मिताली टेलीविजन पर क्रिकेट केवल इसलिए देखती थीं ताकि सचिन तेंदुलकर के बल्ले का जादू देख सकें और उसी प्रकार के कुछ शॉट्स खेल सकें। उन्हें सचिन के ‘स्ट्रेट ड्राइव’ और ‘स्केवयर कट’ बहुत पसंद हैं।

मिताली राज महिला एक दिवसीय अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट में 6,000 रनों को पार करने वाली एकमात्र महिला क्रिकेटर हैं। राज एकमात्र खिलाड़ी (पुरुष या महिला) हैं जिन्होंने एक से अधिक आईसीसी ओडीआई विश्व कप फाइनल में भारत का नेतृत्व किया है, जो 2005 और 2017 में दो बार ऐसा था।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम और साउथ अफ्रीका महिला क्रिकेट टीम के बीच पांचवें और अंतिम ओडीआई में भारत ने 188/9 रन 49.3 ओवर में बनाए। इसी के साथ कप्तान मिताली राज ने एक बार फिर से इतिहास जड़ दिया।

मिताली राज ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांचवें ओडीआई में 79 रन बनाए और नॉट आउट रही। ऐसा करते हुए उन्होंने अपना 55 वां ओडीआई अर्धशतक लगाया। यह उनके इस सीरीज का दूसरा अर्धशतक भी था। जब मिताली बल्लेबाजी के लिए आए तब भारत का स्कोर 53/3 था और वें अंत तक नॉट आउट रही। दक्षिण अफ्रीका टीम को जीत के लिए अब 50 ओवर्स में 189 रन बनाने होंगे।

भले ही मिताली राज ने इंडिया के लिए सबसे अधिक रन बनाए परंतु दक्षिण अफ्रीका की टीम 3-1 से इस सीरीज में लीड कर रही है। इससे पहले भी मिताली राज 10000 इंटरनेशनल रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला बल्लेबाज़ बनकर इतिहास रच चुकी हैं। 9 मार्च को दक्षिण अफ्रीका के ही खिलाफ 2nd ओडीआई में मिताली ने महिला क्रिकेट में सबसे अधिक इंटरनेशनल अपीयरेंसेज का रिकॉर्ड तोड़ा है।

मिताली राज विश्व की पहली ऐसी महिला हैं जिन्होंने ओडीआई में 7000 से भी अधिक रन बनाए हैं। वें अंतर्राष्ट्रीय महिला क्रिकेट के इतिहास में 310 वीं अपीयरेंस के साथ सबसे अधिक बार अपने देश के लिए खेलने वाली महिला खिलाड़ी बनी हैं। यह खिताब जीतते हुए उन्होंने इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स को पीछे छोड़ दिया।

Email us at connect@shethepeople.tv