शरीर की तुलना में देखा जाए तो हमारे अंदरूनी हिस्से थोड़े से काले होते हैं। अंतरंग/ अंधरुनी हिस्से हमेशा ढके रहते हैं शरीर के बाकि हिस्सों के मुकाबले फिर क्यों होते हैं काले ? इसके कई कारण होते हैं जैसे कि शरीर में हॉर्मोनल बदलाव आना या पसीना आने के कारण और ये एक सामान्य बात है इसलिए इसकी टेंशन ना लें।

यह हैं पांच अंतरंग/ अंधरुनी हिस्सों के काले होने के कारण

1. हॉर्मोनल परिवर्तन

महिलाओं के जीवन में कई बार हॉर्मोनल परिवर्तन होता है जैसे की पीरियड्स जब पहली बार शुरू होते हैं , सेक्स के वक़्त और गर्भावस्ता के वक़्त। इस से हमारी त्वचा का रंग मेलेनिन के कारण बदल जाता है। ऐसे की जब कोई महिला बच्चे को दूध पिलाना चालू करती है तो उसके निप्पल्स का रंग और काला हो जाता है उन महिलाओं के मुकाबले में जिसने कभी दूध ना पिलाया हो।

2. रगड़ना

कई बार हम बहुत टाइट कपडे पहनते हैं जिस से वो बार बार हमारी अंधरुनि त्वचा से रगड़ता है जिसके कारण उसका रंग बदल जाता है और वो काला पढ़जाता है। ऐसा हमारी रोज मर्रा के कामों से भी हो सकता है जैसे की व्यायाम करना, चलना या सेक्स करना।

3. उम्र के कारण

अंतरंग/ अंधरुनी हिस्सों के काले होने का एक कारण उम्र भी होता है। उम्र के बढ़ने से ना सिर्फ हमारी स्किन लूज़ और लचीले हो जाती है बल्कि काली भी पढ़ सकती है। उम्र बढ़ते बढ़ते हमारे अंदर कई बदलाव आते हैं जिस मे से एक है अंधरुनी हिस्से का काला होना।

4. पसीना आना

अगर आपको पसीना आता है तो आपको सबसे ज्यादा पसीन अंधरुनी हिस्सों में आता है इसके कारण हमारे अंदर के हिस्से थोड़े काले पढ़जाते हैं। ऐसे मे आप प्रयास करें की आप अपने साथ हाइजीनिक वाइप्स रखें इस से आपको बार बार सफाई रखने में मदद मिलेगी।

5. वेंटिलेशन का अभाव

अंधरुनी हिस्सों में हम 24 घंटे ढक कर रखते हैं और वहां हमेशा कपडे ज्यादा होते हैं और हवा अच्छे से नहीं जा पाती है। इसके कारण त्वचा को पर्याप्त हवा ना मिलने के कारण त्वचा रंग बदल सकती है।

Email us at connect@shethepeople.tv