फ़ीचर्ड

जानिये एप्सम साल्ट क्या है और इसके हमारी बॉडी के लिए बेनिफिट्स भी

Published by
Ayushi Jain

एप्सम साल्ट कई बीमारियों के लिए एक लोकप्रिय इलाज है। लोग इसका इस्तेमाल हेल्थ प्रोब्लेम्स को कम करने के लिए करते हैं, जैसे मसल्स में पेन और स्ट्रेस। रिपोर्ट्स के अनुसार यह कहीं पर भी आसानी से सस्ते दाम में मिल जाता है, इसे आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं और अगर इसे सही से इस्तेमाल किया जाए तो यह बिलकुल भी हार्मफुल नहीं है।

एप्सम साल्ट क्या है?

इसे मैग्नीशियम सल्फेट के रूप में भी जाना जाता है। यह मैग्नीशियम, सल्फर और ऑक्सीजन से बना एक केमिकल कंपाउंड है।इसका नाम इंग्लैंड के सर्री के एप्सोम शहर से लिया गया है, जहां इसे मूल रूप से खोजा गया था। अपने नाम के बावजूद, एप्सम साल्ट टेबल साल्ट की तुलना में एक पूरी तरह से अलग कंपाउंड है। इसकी केमिकल कम्पोजीशन के कारण इसे “साल्ट” कहा जाता है। इसमें टेबल साल्ट के समान उपस्थिति होती है और इसे अक्सर बाथ में डिज़ोल्व कर दिया जाता है, यही कारण है की इसे “बाथ साल्ट ” के रूप में भी जाना जाता हैं। जबकि यह टेबल साल्ट के जैसा ही है, इसका स्वाद अलग है। एप्सम साल्ट काफी कड़वा और स्ट्रांग होता है।

बॉडी में मैग्नीशियम की कमी पूरी करता है

मैग्नीशियम शरीर में चौथा सबसे ज़रूरी मिनरल है, पहला कैल्शियम है। यह 325 से ज़्यादा बायो-केमिकल रिएक्शंस में शामिल है जो आपके दिल और नर्वस सिस्टम को फायदा पहुंचाता है। बहुत से लोग उतना मैग्नीशियम नहीं लेते है जितने की उन्हें ज़रूरत होती हैं। एप्सम साल्ट हमारी बॉडी में अग्नेसियम की कमी को पूरा करता है।

स्लीप साइकिल को प्रॉपर करता है

स्लीप और स्ट्रेस मैनेजमेंट के लिए हमारी बॉडी में एनफ मैग्नीशियम लेवल होना आवश्यक है, संभवतः क्योंकि मैग्नीशियम आपके माइंड को नींद और स्ट्रेस को कम करने वाले न्यूरोट्रांसमीटर का उत्पादन करने में मदद करता है। मैग्नीशियम आपके शरीर को मेलाटोनिन प्रोड्यूस करने में मदद कर सकता है, एक हार्मोन जो नींद को बढ़ावा देता है । लौ मैग्नीशियम लेवल स्लीप क्वालिटी और स्ट्रेस को नेगेटिव तरीके से इफ़ेक्ट कर सकता है। कुछ लोग दावा करते हैं कि एप्सम साल्ट बाथ लेना आपकी बॉडी को स्किन के माध्यम से मैग्नीशियम को अब्सॉर्ब करने की अनुमति देकर इन प्रोब्लेम्स को रिवर्स कर सकता है।

कब्ज ठीक करता है

मैग्नीशियम का इस्तेमाल अक्सर कब्ज के इलाज के लिए किया जाता है। यह मददगार प्रतीत होता है क्योंकि यह आपके कोलन में पानी की कमी को पूरा करता है, जो सही तरीके से एक्सक्रीशन को बढ़ावा देता है। ज्यादातर बार, मैग्नीशियम को मैग्नीशियम साइट्रेट या मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड के रूप में कब्ज से राहत के लिए मुंह के ज़रिये लिया जाता है।

 

Recent Posts

लैंडस्लाइड में मां बाप और परिवार को खो चुकी इस लड़की ने 12वीं कक्षा में किया टॉप

इसके बाद गोपीका 11वीं कक्षा में अच्छे मार्क्स नहीं ला पाई थी क्योंकि उस समय…

54 mins ago

जिया खान के निधन के 8 साल बाद सीबीआई कोर्ट करेगी पेंडिंग केस की सुनवाई

बॉलीवुड लेट अभिनेता जिया खान के मामले में सीबीआई कोर्ट 8 साल के बाद पेंडिंग…

2 hours ago

दृष्टि धामी के डिजिटल डेब्यू शो द एम्पायर से उनका फर्स्ट लुक हुआ आउट

नेशनल अवॉर्ड-विनिंग डायरेक्टर निखिल आडवाणी द्वारा बनाई गई, हिस्टोरिकल सीरीज ओटीटी पर रिलीज होगी। यह…

3 hours ago

5 बातें जो काश मेरी माँ ने मुझसे कही होती !

बाते जो मेरी माँ ने मुझसे कही होती : माँ -बेटी का रिश्ता, दुनिया के…

3 hours ago

पूजा हेगड़े ने किया करीना को सपोर्ट सीता के रोल के लिए, कहा करीना लायक हैं

पूजा हेगड़े ने कहा कि करीना ने वही माँगा है जो वो डिज़र्व करती हैं।…

3 hours ago

This website uses cookies.