उत्तर भारत में कड़ाके क़ि ठण्ड ने हमारा जीवन मुश्किल कर दिया है। तापमान में इतनी गिरावट से लोग बहुत परेशां हैं और अपने आप को गर्म रखने के लिए अलग अलग नुस्के अपना रहे हैं। बहुत लोग तो इस ठंड से बचने के लिए कुछ समय के लिए मुंबई और पुणे जैसे गर्म शहर जा रहे हैं। पर यह सबके लिए संभव नहीं। ऐसे में ज़रूरी है क़ि हम धूंप में बैठे। सर्दियों में ऐसी चीज़ जिसे देखने के लिए हर कोई तत्पर रहता है होती है धूंप। यह बहुत जरूरी है क़ि हम सर्दियों के सूरज के नीचे बैठे और गर्मी ले। यहाँ दिए गए हैं ठण्ड में धूंप सेकने के कुछ फायदे।

image

हाउसवाइव्स के लिए

बहुत सी हाउसवाइव्स के लिए बाहर धूंप में बैठना अपनी सहेलियों के साथ अपनी परेशानिया डिसकस करने का एक अच्छा मौका होता है। पेरेंटिंग, घरेलू काम, वैवाहिक जीवन से रिलेटेड मुश्किलों को वह डिसकस कर लेती हैं। यह उन्हें उनके जीवन के “आवश्यक समय” की जरूरत है। इतना ही नहीं घंटों धूप में बैठना उनके लिए विटामिन डी की खुराक पाने का एक शानदार तरीका है।

डिजिटल डिटॉक्स की जरूरत टीनएजर्स और बच्चों के लिए

हम जिस डिजिटल युग में जी रहे हैं, उसने हमारे लिए खुद को डिजिटल से अलग करना और कुछ समय बिताना मुश्किल बना दिया है। सर्दियों में धूप में बैठना टीनएजर्स और डिजिटल डिटॉक्स की तलाश करने वाले बच्चों के लिए वरदान साबित हो सकता है। उस फोन को कुछ घंटों के लिए बंद कर दें।अपने दोस्तों को दिल से दिल की बात करने के लिए बुलाएं और धूंप का मज़ा लें।

मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों से जूझ रहे लोगों के लिए

सूर्य का प्रकाश आपके स्ट्रेस को दूर करता है और मानसिक तनाव कम करता है। वास्तव में, धूप को सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने के लिए जाना जाता है – शरीर का प्राकृतिक खुश हार्मोन।

बुजुर्गों के लिए

यह नींद के पैटर्न को नियंत्रित करता है, अल्जाइमर के लक्षणों को कम करता है और विटामिन डी का उत्पादन बढ़ाता है। इसके अलावा, यह उनकी इम्युनिटी को बढ़ावा देने का एक शानदार तरीका है।

हमें यकीन है कि आप हर दिन कम से कम कुछ घंटे धूप में बिताएंगे।

Email us at connect@shethepeople.tv