कितना भी प्यारा रिश्ता हो, ध्यान ना देने पर बिखर ही जाता है। यदि आपको लगता है कि आपके रिलेशनशिप में पहले जैसी बात नहीं रही तो डरिये नहीं, आप अकेले नहीं हैं। कई रिलेशनशिप्स ऐसी स्थिति से गुज़रते हैं और मज़बूती से इसका सामना करते हैं। आपको केवल सही इंटेंशन के साथ एफ़र्ट्स करने की ज़रूरत है। आप अपने बिखरते हुए रिश्ते को आसानी से सँवार सकते हैं। इस कोशिश में हम आपकी मदद करेंगे। यहाँ हम आपको बताएंगे bikharte relationship ko sambhalne ke tareeke. 

जानिए अपने बिखरते हुए रिश्ते को कैसे संभाला जा सकता है –

1. कारण जानने की कोशिश कीजिए

यदि आपका रिलेशनशिप टूटने की कागार पर है तो इसका कोई कारण ज़रूर होगा। सबसे पहले इस कारण का पता लगाइये तभी कोई हल निकाला जा सकता है। क्या आपको पार्टनर के बर्ताव में कोई चेंज नज़र आ रहा है? क्या आपका पार्टनर के प्रति लगाव खत्म होने लगा है? क्या आपको उनपर शक रहता है? इस तरह के सवाल ख़ुद से पूछीए और जवाब ढूँढ़िये। जवाब मिलने पर ही आप अपने रिलेशनशिप को बचा सकेंगे।

2. एक दूसरे को माफ़ करना सीखिये

अपने पार्टनर के प्रति मन में शंका और नाराज़गी का भाव रखने से हम रिलेशनशिप को गहरी चोट पंहुचा रहे होते हैं। पार्टनर के प्रति लगाव बनाये रखने के लिए माफ़ करना ज़रूरी है वरना आपका प्यार खत्म होने लगेगा और रिलेशनशिप का टूटना तय है। आप दोनों को एक दूसरे की कमियों को एक्सेप्ट करना चाहिए और अनरियलिस्टिक एक्सपेक्टेशन्स नहीं रखने चाहिए। माफ़ करना आपकी मन की शांति के लिए भी ज़रूरी है। इससे आप पार्टनर की नज़रों में अच्छे और मैच्योर बनेंगे।

3. बात करना ज़रूरी है!

आप जो भी फील करते हैं, अपने पार्टनर को साफ़ शब्दों में बताइये। इससे आप मन ही मन परेशान होने के बजाय साथ मिल कर समस्या का हल ढूँढ़ने का प्रयास करेंगे। उन्हें बताइये कि आपको अपना रिश्ता टूटता हुआ नज़र आ रहा है और उनसे पूछीये कि क्या उन्हें भी ऐसा ही लगता है। अगर आप दोनों एक ही पन्ने पर हैं तो आप आराम से बैठ कर हल निकाल सकेंगे। कम्युनिकेशन से आप अपनी इंसेक्योरिटीज़ और गलतफ़हमियां दूर कर सकते हैं। चुप रहने का कोई फ़ायदा नहीं है इसलिए बात करिये। (bikharte hue relationship ko sambhalne ke tareeke)

4. कॉमन चीज़ों पर फोकस करिए

उनसे अलग होने के बारे में सोचने के बजाय ये सोचिये कि आप दोनों की कौनसी आदतें और हॉबीज़ कॉमन हैं। वो क्या है जो आप दोनों को करीब लाता है, इसपर फोकस करिये। आप दोनों एक जैसे नहीं हैं और बन भी नहीं सकते इसलिए जो बातें आप दोनों में एक जैसी हैं और आपको बाँधतीं हैं, उन पर ध्यान दीजिए।

5. “जीतने” की भावना का त्याग करिये

कई बार हम ये भूल जाते हैं कि रिलेशनशिप दो लोगों को साथी बनाता है, प्रतिद्वंदी(competitor) नहीं। आपको याद रखना होगा कि आप दोनों एक टीम है, आपको एक दूसरे का साथ देना है; एक दूसरे से आगे निकलने की या जीतने की भावना का त्याग कर दीजिए। अगर आप हमेशा अपने बारे में सोचते रहेंगे तो कुछ समय में आपके पार्टनर का इस रिलेशनशिप से इंटरेस्ट खत्म हो जाएगा इसलिए मैं की जगह हम पर फोकस करिये।

ये थे bikharte relationship ko sambhalne ke tareeke।

Email us at connect@shethepeople.tv