हाल ही में देश के कई हिस्सों में कुछ कोरोना मरीजों में ब्लैक फंगस इंफेक्शन पाया गया। आज स्वास्थ्य मंत्री ने ब्लैक फंगस से जुड़ी जानकारी को ट्विटर पर 4 स्लाइड्स में शेयर किया। आइए जानते हैं ब्लैक फंगस के क्या लक्षण है और से बचने के लिए क्या करना है क्या नहीं करना चाहिए।

1. ब्लैक फंगस ( mucormycosis) क्या है ?

ब्लैक फंगल इंफेक्शन एक फंगल इंफेक्शन है जो सिर्फ कुछ मेडिकल हेल्थ प्रॉब्लम्स वाले मरीजों को ही हो रहा है जिनके अंदर बाहर से आने वाले पैथोजन्स से लड़ने की ताकत कम होती है।

2. मरीज़ इस इंफेक्शन से कैसे बच सकता है  ?

जिन लोगों को co-morbities, variconazole therapy, uncontrolled diabetes या ICU में लंबे समय रहने के कारण immunosuppresion है, वे इस बीमारी से खुद को ज्यादा बचाएं।

3. ब्लैक फंगस के लक्षण क्या-क्या है?

  • आँखों में दर्द या उसके किनारे लाल होना
  • बुखार
  • सिर दर्द
  • खाँसी, सांस लेने में दिक्कत
  • खून की उल्टी

हेल्थ मिनिस्टर ने ट्वीट में एडवाइज देते हुए कहा कि हर नाक बंद होने वाले केस को फंगस का केस ना समझें खासकर की अगर पेशेंट इम्यूनोमोड्यूलेटर पर हो।

4. ब्लैक फंगस से बचने के लिए क्या करें ?

  • हाइपोग्लाइसीमिया को कंट्रोल करें
  • डायबिटीज पेशेंट में कोविड-19 के डिस्चार्ज के बाद ब्लड ग्लूकोस लेवल को देखते रहे
  • स्टेरॉयड का इस्तेमाल करें
  • ऑक्सीजन थेरेपी के दौरान साफ और छना हुआ पानी इस्तेमाल करें
  • एंटीबायोटिक या फिर एंटीफंगल को सही मात्रा में लें।

5. एंटीफंगल से बचने के लिए क्या ना करें

  • लक्षणों को नजरअंदाज ना करें
  • बंद नाक के सभी केसेस को  बैक्टीरियल केस ना समझें
  • आगे की प्रक्रिया करने से पीछे ना हटें
  •  ट्रीटमेंट को जल्द से जल्द करें और समय बर्बाद ना करें।

मुंबई में 111 पेशेंट्स में ब्लैक फंगल का इन्फेक्शन पाया गया और उनका इलाज अभी जारी है। एक 44 वर्षीय आदमी ने मुंबई में फंगल इंफेक्शन के कारण अपनी दृष्टि खो दी है।

Email us at connect@shethepeople.tv