कोरोना वायरस के इस समय लोगों की जान बचाने के लिए सरकार लॉक डाउन का इस्तेमाल कर रही है। ऐसे में स्कूल के बच्चे, कॉलेज विद्यार्थी, कॉर्पोरेट ऑफिस के कर्मचारी व इत्यादि लोगों को घर बैठ कर ही काम करना पड़ रहा है। ऐसे में घर में कोरोना और डिप्रेशन एक ही सिक्के के दो पहलु बन चुके हैं इसलिए आइये जानते हैं कि घर में रहकर भी डिप्रेशन से कैसे डील करें।

1. Meditation व व्यायाम का सहारा लें-

मानसिक स्वास्थ समस्याओं को घर बैठकर कम करने का सबसे बेहतर तरीका है व्यायाम करना, meditation करना व योग का सहारा लेना। व्यायाम व meditation करने से दिमाग में चल रहे अनेकों ख्यालों को रोका जा सकता है और depression से बचा जा सकता है।

2. खुद का ध्यान भटकाएं –

महामारी के समय आसपास इतना भयावह माहौल के कारण हमारा मन बेचैन और परेशान रहता है जिसके कारण डिप्रेशन और ज्यादा बढ़ जाता है। लॉक डाउन के समय कोशिश करें कि अपने आप को छोटे मोटे कामों में व्यस्त रखें जैसे फैमिली के साथ समय बिताना, घर की सफाई करना, कुछ नया पकाना इत्यादि करें जिससे आपका मन बेवजह की बातों से हटकर थोड़ा शांत रहेगा।

3. न्यूज़ कम देखें –

माना कि इस कठिन समय में हर बात की जानकारी रखना बहुत ज़रूरी है पर कोशिश करें कि आप न्यूज़ कम से कम देखें क्योंकि न्यूज़ से सिर्फ आस पास की और भी ज्यादा नेगेटिव बातें आपके दिमाग में घर करेंगी और आपके स्ट्रेस को बढायेंगी। न्यूज़ का परहेज करें।

4. अपने दोस्तों, रिश्तेदारों से बातें करें –

टेक्नोलॉजी के समय में एक शहर से दूसरे शहर में बैठे लोग आसानी से बात कर सकते हैं इसलिए कोशिश करें कि videocall पर आप अपने दोस्तों से, रिश्तेदारों से बातें करें और अपनी बातों को उनके साथ share करें।

5. नई आदतें बनाएं –

घर में रह अपनी आदतों में बदलाव लाएं। सही समय पर खायें, सोयें और बाकी के काम करें। अपनी मनपसंद activities करें जैसे drawing करना, पेंटिंग करना, गाने गाना, डांस करना और भी बहुत कुछ।

र में रहते हुए कोशिश करें कि अपने डिप्रेशन को हल्के में ना लें और दिक्कतों के ज्यादा बढ़ने से पहले ही थेराॅपिस्ट् से संपर्क करें। हमें कोरोना और डिप्रेशन दोनों को ही हराना है और आगे बढ़ते जाना है। 

Email us at connect@shethepeople.tv