छोटे बच्चों के दिमाग में क्या चलता रहता है हमे पता नहीं चलता है। कई बार बच्चे अंदर से बहुत डरे हुए होते है। उनको किसी अपने को खोने का डर रहता है तो कभी वो सोचते हैं की क्या कभी ये COVID – 19 ख़तम होगा। बच्चे इतने बड़े नहीं होते कि उन्हें दुनियादारी की बातें समझ आएं पर बड़ों का फ़र्ज़ होता है कि वो बच्चों को उनके स्तर पर जाकर सिखाएं। आज हम आपको बताएंगे कि आप कैसे COVID – 19 से डरे बच्चों से बात करें

1. डर का कारण

बहुत से बच्चों को इस बात का डर है कि COVID – 19 से सब दूर दूर हो जाते हैं, कोई किसी के पास जाता नहीं है। उनको कई बार अपने किसी को खोने का डर बहुत परेशान कर देता है। बच्चे का बाल मन बहुत कुछ दिमाग में सोच लेता है और फिर डरता रहता है। इसलिए आप बच्चे से बात करें और उनकी बाते सुने और अंदाज़ा लगाएं कि वो क्या कुछ दिमाग में सोच कर बैठे हैं इस से उनके डर का कारण पता लगेगा ।

2. स्कूल को लेकर – COVID-19 से डरे बच्चे

कई बच्चे इतने समय से घरों में बंद रहे हैं इसलिए अब उनको भीड़ में और स्कूल जाने में डर लगता है। इसलिए पेरेंट्स का बच्चों को समझाना जरुरी है कि कैसे सब ठीक हो रहा है और पहले जैसे अच्छा अच्छा हो जाएगा। कोशिश करें कि बच्चे के दिमाग को आप सकारात्मक कर दें।

3. सेपरेशन – COVID-19 से डरे बच्चे

जिन बच्चों के माँ पापा COVID – 19 की वजह से अलग अलग दूसरे शहरों में फस गए थे वो सोच सकते हैं कि उनके माँ पापा अलग अलग हो गए हैं और वो ये सोचकर बहुत परेशान हो सकते हैं। इसलिए कोशिश करें कि आप उनके दिमाग की तस्वीर को अच्छे से साफ़ कर दें और उनका डर बाहर निकल कर फेंक दें ।

4. उत्सव

जिन बच्चों ने बचपन में कई उत्सव साथ में भीड़ में अपने फॅमिली और दोस्तों के साथ मनाएं हैं उनके मन पर COVID – 19 का गहरा प्रभाव हो सकता है। क्योंकि वो अपने लोगों से मिल नहीं पाए और घरों में कैद हो गए थे।

Email us at connect@shethepeople.tv