Disadvantages Of Sleeping In Sweater: क्या आप स्वेटर पहनकर सोते है? जानिए कैसे यह नुकसानदायक है

Disadvantages Of Sleeping In Sweater: क्या आप स्वेटर पहनकर सोते है? जानिए कैसे यह नुकसानदायक है Disadvantages Of Sleeping In Sweater: क्या आप स्वेटर पहनकर सोते है? जानिए कैसे यह नुकसानदायक है

SheThePeople Team

04 Jan 2022


Disadvantages Of Sweater: सर्दियों में वूलेन के स्वेटर आपके दोस्त बन जाते है जो आपके साथ दिन और रात रहते है। इससे शरीर को बाहर की ठंड से बचाव रहता है पर कई बार रात को पहनकर सोने से यहीं ऊनी स्वेटर आपकी त्वचा और सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकते है। आईए जानते है कैसे-

1. रूखापन ज़्यादा हो सकता है

जब आप ज़्यादा देर तक ऊन के बने स्वेटर पहने रहते है और डाल कर सो भी जाते है तो सोते वक़्त की जाने वाली हरकत से यह शरीर से रब होते है जिससे फ्रिक्शन क्रिएट होती है जो ज़्यादा रूखापन आने कारण कारन बन सकती है।

2. खुजली और एलर्जी 

कुछ लोगों को वूलेन के कपड़ो से एलर्जी होती है और अगर गलती से व्यक्ति इसे रात को पहन कर सो जाए तो खुजली और एलर्जी
बढ़ सकती है जो आपको ज़्यादा तकलीफ़ दे सकती है। इससे व्यक्ति की नींद में भी परेशानी आ सकती है ।

3. रैशेस

वूलेन के कपड़े को ज़्यादा देर तक पहन कर रखने से शरीर पर रैशेस की शिकायत हो सकती है क्योंकि गरम कपड़े ऑक्सीजन को अंदर आने से ब्लॉक करते है जिससे ठंड और ठंडी हवाओं से बचाव होता है पर यह रशेस का कारण भी बन सकता है। ऐसे में रात को ऊनी कपड़े पहनने से परहेज़ करें।

4. घुटन महसूस होना

ऊन के कपड़े मोटे होते है जो सर्दी से आपका बचाव करते है पर रात को आप ने रजाई व् कंबल भी लिया होता है जिससे साँस घुटने की शिकायत आ सकती है। सर्दी में अक्सर भारी कपड़े पहनने से सांस लेने में तकलीफ़ आ सकती है। रात को यह तकलीफ़ और बढ़ सकती है।

5. शरीर का तापमान बढ़ना

ऊनी कपड़े पहन कर रात को सोने से शरीर का तापमान बढ़ सकता है जिससे ब्लड प्रेशर लौ हो जाता है, ज़्यादा पसीना आ सकता है जिससे दिल घबराने लगता है ऐसे में रात को सोने से पहले पतले कपड़े पहनें।


अनुशंसित लेख