आजकल डाइवोर्स के काफ़ी केसेस देखने में आ रहे हैं पर डाइवोर्स लेना इतना आसान काम नहीं है, डाइवोर्स से पहले कानूनी बातें –  डाइवोर्स लेते समय पति और पत्नी दोनों को ही  काफ़ी कानूनी प्रक्रिया से गुज़रना पड़ता है। बच्चों की कस्टडी , प्रॉपर्टी का बटवारा , पत्नी का मेंटेनेंस आदि कई तरह की उलझने आती हैं।और कई बार इसमें महिलाओं के पास सबूत होने के कारण पूरा हक़ नहीं मिलता और वे केस हार जाती हैं या बच्चों की कस्टडी खो बैठती हैं। डाइवोर्स कानूनी बातें  इसलिए एक मश्हूर डाइवोर्स लॉयरआभा सिंह की बताई हुई यह 5 बातें याद रखें

1 ) पति के वित्त विवरणों का रिकॉर्ड

यह बेहद ज़रूरी है की आपको आपके पति की  फाइनेंशियल स्तिथि का पता हो , आपके पति की कितनी इनकम हैं , कितनी प्रॉपर्टी है और वो प्रॉपर्टी किसके नाम है इन सभी चीज़ों की जानकारी आपके पास होनी चाहिए क्योंकि अगर आपका डाइवोर्स होता है तो आप अपने पूरे अधिकार के साथ अलग हो सकें।

2 )  एक जैसी जीवन शैली

आपको डाइवोर्स के बाद हक़ है की आप अपने पति के दर्जे की ही लाइफस्टाइल से रहें। जैसे आप शादी के पहले रहती थी वैसे ही डाइवोर्स के बाद रहने का अधिकार है।

3 ) डाइवोर्स से पहले कानूनी बातें – एलिमनी और मेंटेनेंस

जब तक आपका डाइवोर्स फाइनल नहीं हो जाता और उसकी प्रक्रिया चल रही होती है तब तक के लिए भी अपने पति से मेंटेनेंस मांगने का हक़ है और एलिमनी का भी।

4 )डाइवोर्स से पहले कानूनी बातें – जॉइंट प्रॉपर्टी में नाम

अक्सर महिलाएँ यह नज़रअंदाज़ कर देती हैं। उन्हें लगता है की अगर कोई जॉइंट प्रॉपर्टी है तो  उसमे पति का नाम होना या उनका होना एक ही बात है जबकि ऐसा नहीं है। अगर कोई जॉइंट प्रॉपर्टी आप लेते हैं तो ध्यान रखिये की उसमे आपका नाम हो वरना बाद में वो प्रॉपर्टी में भले ही आपने पैसे दिए हों लेकिन वो आपको नहीं मिलेगी।

5 ) आईटी रिटर्न्स और संपत्ति

आपको आपके पति के आईटी रिटर्न्स की जानकारी होनी चाहिए और सबूत के तौर पर उसकी फोटोकॉपी भी और सारी संपत्ति की भी जानकारी रखें। ऐसा करने से अक्सर डाइवोर्स के समय पति अपनी संपत्ति किसी और के नाम कर देता है ताकि उसे वह संपत्ति आपको देनी पड़े।  डाइवोर्स कानूनी बातें  
Email us at connect@shethepeople.tv