क्या आप बिना मन के वो सारी चीज़ें करती हैं जो पार्टनर आपको करने के लिए कहते हैं? क्या आपके साथी दूसरी लड़कियों से आपकी तुलना करते रहते हैं? क्या आप दबा हुआ महसूस करती हैं? ये सब इमोशनल अब्यूज़ के लक्षण हैं। कई बार इमोशनल अब्यूज़ दिखाई नहीं देता लेकिन आपको गहरी चोट पंहुचा देता है। अगर आप अपना आत्मविश्वास नहीं खोना चाहती हैं तो आपको इससे डील करने की तरकीब जाननी होगी। यहाँ हम आपको बताएंगे रिलेशनशिप में emotional abuse का सामना कैसे करें।

1. इमोशनल अब्यूज़ के साइन्स पता करिए

इमोशनल अब्यूज़ से आप तभी डील कर पाएँगे जब आपको पता हो कि आप ये फेस कर रहे हैं। इसके लिए आपको इमोशनल अब्यूज़ के साइंस पता होने चाहिए। ये अब्यूज़ आमतौर पर धीरे-धीरे शुरू होता है और समय के साथ आपको कमज़ोर और डिपेंडेंट बनाता जाता है।

Emotional abuse के कुछ साइंस पढ़िये।
– आपके पार्टनर सपोर्ट करने की जगह बात-बात पर आपकी गलतियाँ गिनाते रहते हैं।
– उनसे कितनी भी बड़ी गलती क्यों ना हुई हो, वो उसकी जिम्मेदारी कभी नहीं लेते है। हर गलती का दोष आपके सर पर आ जाता है।
– रिलेशनशिप को चलाने के लिए आपको ही सारी कुर्बानियां देनी पड़ती हैं, वो कभी कोई एफ़र्ट नहीं करते।
– वो आपको इमोशनली ब्लैकमेल करते हैं।
– वो आपकी आज़ादी पर लिमिट्स सेट करते हैं।

2. अपने अधिकारों के बारे में जानिए

आपका और आपके पार्टनर का रिश्ता समानता पर आधारित होना चाहिए। आपको रिस्पेक्ट पाने का पूरा हक है। यदि आपका रिलेशनशिप आपको निगेटिवली इफेक्ट कर रहा है तो आपके पास अपने साथी को छोड़ देने का भी हक है। आपको अपने ओपीनियन्स रखने का अधिकार है, भले की आपके साथी आपसे सहमति ना रखें। आपको ज़रूरी सवालों के जवाब माँगने का हक है और पार्टनर को किसी भी चीज़ के लिए ना बोलने का भी हक है। अपने सभी अधिकारों को जानिए क्योंकि अक्सर emotional abuse में अब्यूज़र इन्ही अधिकारों पर हमला करता है।

3. अपनी सेफ़्टी को प्राथमिकता दें

आपको समझना होगा कि अब्यूज़र्स ख़ुद को नहीं बदलते, बल्कि समय के साथ अब्यूज़ की इंटेंसिटी बढ़ जाती है और कई बार इमोशनल अब्यूज़, फिज़िकल और सेक्शुअल अब्यूज़ तक बढ़ जाता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए सबसे पहले अपनी सुरक्षा के बारे में सोचिये। अकेले होने के डर से एक ऐसा रिश्ता मत निभाइये जो आपके लिए खतरा बन जाए। ऐसे इंसान से अलग हो जाना ही समझदारी की निशानी है।

4. बदला लेने की भावना ना रखें

अब्यूज़ करने वाले लोग मैनिपुलेट करना भी खूब जानते हैं। वो आपको अंदर तक तोड़ देंगे और उसका सारा दोष आप पर डाल देंगे। ऐसे में आपको गुस्सा आना स्वाभाविक है लेकिन कभी भी बदले की भावना मत जगाइये। आपमें और उनमें फ़र्क है और इस फ़र्क को बनाये रखिये। उनके इंसल्ट्स और धमकियों के बदले में आप उन्हें मत डराइये-धमकाइये। कभी भी फिज़िकल फ़ोर्स का प्रयोग मत करिए। इस तरह का बर्ताव आपके लिए ही घातक सिद्ध होगा। आप उस व्यक्ति से रिश्ता खत्म करके आगे बढ़ जाइये और शांतिपूर्वक ज़िंदगी बिताइए।

5. अब्यूज़ के बुरे प्रभावों को समझें

कई बार लोग चुप-चाप इमोशनल अब्यूज़ सहने को तैयार हो जाते हैं क्योंकि उन्हें इसके बुरे प्रभावों के बारे में पता नहीं होता। ये आपके रिलेशनशिप के लिए तो हार्मफ़ुल है ही, साथ ही आपकी हेल्थ पर भी इसके लाँग टर्म इफ़ेक्ट दिख सकते हैं। अब्यूज़ की वजह से आपको कई फिजिकल और मेंटल प्रॉब्लम्स हो सकते हैं जैसे माइग्रेन, बॉडी पेन, स्ट्रेस, एन्ग्जाइटी, डिप्रेशन, ट्रौमा और ड्रग अब्यूज़। इसलिए इसका समाधान करना बहुत ज़रूरी है। इमोशनल अब्यूज़ को कभी भी हल्के में ना लें।

6. सपोर्ट लें

अपने दोस्तों और परिवारवालों का सहारा लीजिये। उन्हें अपनी सिचुएशन के बारे में बताइये और इससे बाहर लेने में उनका सहयोग माँगिए। सबसे करीबी लोग आपको ज़रूर समझेंगे और बिना जज किये आपकी मदद करेंगे। जब आपको सपोर्ट करने के लिए लोग होंगे तो आप अकेला महसूस नहीं करेंगे और अपने अब्यूज़र का डट कर सामना कर सकेंगे। आपका डर कम हो जाएगा और हिम्मत बढ़ेगी।

7. अब्यूज़र से काॅन्टैक्ट खत्म कर दें

एक बार आप इस रिलेशनशिप से बाहर आ जाएँ, उसके बाद इस इंसान से बिल्कुल भी काॅन्टैक्ट ना रखें। यदि आप उनसे काॅन्टैक्ट खत्म नहीं करेंगे तो वो दोबारा आपकी ज़िंदगी में शामिल होने की पूरी कोशिश करेंगे। वो आपका दिल जीतने के लिए माफ़ी माँगेंगे, प्यार से बात करेंगे और आपको ये यकीन दिलाने की कोशिश करेंगे कि वो बदल चुके हैं। ऐसे मैनिपुलेटिव लोगों से बात-चीत ना करने में ही आपकी भलाई है। जब भी आपको उनसे बात करने का मन करे, याद करलें कि उन्होंने आपके साथ क्या किया था।

8. अपना ध्यान रखें

एक रिलेशनशिप के खत्म हो जाने पर भी पार्टनर की याद आती है लेकिन आपको धीरे-धीरे उन्हें अपने दिमाग से निकालना होगा। हमेशा याद रखिये कि यदि कोई आपको अब्यूज़ कर रहा है तो गलती उसकी है, आपकी नहीं। ख़ुद को दोषी ना ठेहराएं। खुश रहने के तरीके खोजिए। ख़ुद को बिज़ी रखिये, अच्छे लोगों के साथ समय बिताइये, प्रोडक्टिव कामों में समय लगाइये। अपनी केयर करिए।

Email us at connect@shethepeople.tv