दुनिया में दो टाइप के लोग होते हैं। एक वह जिन्हें दौड़ना, खेलकूद पसंद हो और दूसरे वो जो इन सबसे पीछे भागते हैं। आजकल की भागदौड़ भरी लाइफ की वजह से हम इतना थक जाते हैं कि हमें भागने का या खेलने-कूदने का टाइम नहीं मिलता। लेकिन ऐसा करते-करते यह भूल जाते हैं कि शायद हमारे आलस के कई हो पर हमारी पर हमारे शरीर के लिए नहीं अगर आप आज भी बुरे उनको देखें जो पहले के जमाने में ऐसे भी काफी हद तक हमसे ज्यादा चुस्त होते हैं। ऐसा क्यों? ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने अपने पहले की जीवन में काफी भागदौड़ की। आजकल छोटे-छोटे बच्चे भी थक जाते हैं, क्यों? क्योंकि उन्हें इतना भागने-दौड़ने की आदत ही नहीं है। जानना चाहते हैं दौड़ने के फायदे ?
(running ke fayde)

image

आइए जानते हैं दौड़ने के फायदे  ( running ke fayde )

दौड़ने से आप काफी बीमारियों से बच सकते हैं 

 भागने से ब्रेस्ट कैंसर का रिस्क कम होता है। यही नहीं, भागने से स्ट्रोक का रिस्क भी कम होता है। जिन लोगों को डायबिटीज है, ब्लड प्रेशर हाई रहता है या ऑस्टियोपोरोसिस है, उनके लिए भागना बहुत अच्छा होता है। और तो और, इससे दिल का दौरा पड़ने का रिस्क भी कम होता है।

वजन कम होता है

दौड़ने  से हमारे शरीर से काफी पसीना निकलता है और इससे हमारे शरीर का एक्सैस फैट दूर होता है यानी कि जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उन्हें तो जरूर भागना चाहिए।

भागने से डिप्रेशन कम होता है

डिप्रेशन में हो या मूड खराब हो रहा हो, तो आपका क्या मन करता है? यही ना कि बस कहीं दूर भाग जाए? तो भागें ना! असल में, जब हम भागते हैं तो हमारे दिमाग से ऐसे हार्मोन सीक्रेट होते हैं जो हमारा मूड बेहतर करते हैं। आप थोड़ा सा भी भाग लेंगे तो आप देखेंगे की आप और अच्छे मूड में है।

आपकी मेमरी बेहतर होती है

2014 में हुई एक रिसर्च के मुताबिक ऐसी एक्सरसाइज करने से जिससे कि आपका हार्ट रेट बढ़े या शरीर से पसीना आए जैसे की भागना, इससे आपके दिमाग का हिप्पोकैंपस का साइज बढ़ता है। यही वह पार्ट है जो मेमोरी के लिए काम आता है। यही नहीं, भागने से अलज़ाइमर्स के लक्षण भी कम हो सकते हैं।

बोन डेंसिटी बढ़ती है

दौड़ने से बोंस को जरूरी मिनिरल्स मिलते हैं जिससे वह और स्ट्रांग बनती है। ये थे कुछ दौड़ने के फायदे  ( running ke fayde )

पढ़िए : अगर मेरे पीरियड्स चल रहे हैं तो उन्हें छिपाने की क्या ज़रूरत है?

Email us at connect@shethepeople.tv