स्वर्गीय स्क्वाड्रन लीडर समीर अबरोल (Late Squadron Leader Samir Abrol) की पत्नी गरिमा अबरोल ने वायु सेना अकादमी से फ्लाइंग ऑफिसर के तोर पर पास आउट हैं । उनके पति समीर अबरोल की मौत तब हुई थी जब उनके मिराज फाइटर विमान (Mirage fighter aircraft) बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ( Hindustan Aeronautics Limited )  हवाई अड्डे पर टेकऑफ़ के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे। गरिमा अबरोल की कहानी साहस, संघर्ष और हिम्मत की है।

जानिये गरिमा अबरोल के बारे में आठ बातें

  • अबरोल भारतीय वायु सेना में शामिल होने से पहले एक डांस फिटनेस ट्रेनर और बेंगलुरु शहर में Prowl trainer थी।
  • उनके पति समीर अबरोल की 1 फरवरी को मिराज 2000 ट्रेनर विमान का परीक्षण करते समय निधन हो गया था। समीर अबरोल और सिद्धार्थ नेगी की एचएएल हवाई अड्डे के अंदर उड़ान भरने के तुरंत बाद उनके विमान के एक बड़े विस्फोट के साथ दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से मृत्यु हो गई। नेगी की पत्नी एक IAF अधिकारी हैं और दुर्घटना होने पर वह बेंगलुरु में तैनात थीं।
  • अपने पति की मृत्यु के बाद, उन्होंने वायु सेना में शामिल होने का निर्णय लिया।
  • अपने पति की मृत्यु के पांच महीने बाद, उन्होंने जुलाई 2019 में स्टेट सिलेक्शन बोर्ड (SSB) के इंटरव्यू को क्रैक कर दिया।
  • अबरोल डंडीगल में वायु सेना अकादमी में शामिल हो गई। जनवरी 2020 में आईएएफ अकादमी में उनका कोर्स शुरू हुआ।
  • अपनी प्रोफेशनल ट्रेनिंग पूरी करने के बाद शनिवार को गरिमा को ‘प्रेसिडेंटस कमिशन” प्रदान किया गया।
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक कंबाइंड ग्रेजुएशन परेड में गरिमा सहित फ्लाइंग कैडेटों को पद और सम्मान से सम्मानित किया।
  • गरिमा 21 ग्रजुएटिंग ऑफिसर्स में से एक थीं।

“मैं वास्तव में देखना चाहती हूं कि उनके नज़रिये से जीवन कैसा दिखता है। विरासत को आगे बढ़ाना है। वही यूनिफार्म पहनने से मुझे निरंतर स्ट्रांग बने रहने का एक मकसद भी मिलता है, ” – अबरोल ने पांडे के अनुसार IAF में शामिल होने के अपने फैसले के बारे में कहा।

पढ़िए : शांति तिग्गा: आर्मी की पहली महिला जवान

Email us at connect@shethepeople.tv