रमज़ान के महीने के साथ साथ कोरोना की इस दूसरी वेव के कारण धारावी के आस पास के गरीबों को सबसे ज़्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा। इस बीच में एक महिला ने कईयों की मदद की। इस समय में एक महिला ने खुद कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद भी अपने हॉस्पिटल बेड से धारावी के गरीबों में ईद के राशन की व्यवस्था की।

कौन है ये महिला जिसने करवाई ईद के राशन की व्यवस्था  ?

शाहीन जामदार 38 वर्षीया है और धारावी की ही निवासी है। पिछले 6 सालों से उन्होंने वहां सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़ के हिस्सा लिया है। वर्ष 2020 में वो एक क्राउडफंडेड ग्रुप एनरिच लिव्स फाउंडेशन से जुड़ गयी। इस संस्था ने अपने स्थापना से ले कर अब तक 8000 राशन किट्स पूरे धारावी में बटवायें हैं। इसके साथ साथ इस संस्था ने कपडे, स्नैक्स और कम से कम 10000 सेनेटरी पैड्स भी धारावी में बटवायें हैं।

ईद से पहले शाहीन खुद हो गयी थी कोरोना पॉजिटिव

शाहीन खुद पिछले 12 दिनों से कोरोना पॉजिटिव हो गयीं थी जिस कारण वो हॉस्पिटल में एडमिट हो गयी थी। इस बीच में उन्हें धारावी के कई लोगों के मैसेजस मिले जो उनकी इस हालत से अवगत नहीं थे और उनको धारावी में ढूंढ रहें थें। इतने सारे लोगों के मैसेजस मिलने पर उन्होंने ने तय किया की अब वो इन लोगों की मदद ज़रूर करेंगी।

कैसे की शाहीन ने ईद में सब की मदद ?

उन्होंने अपने हॉस्पिटल से ही ज़रूरतमंद लोगों की लिस्ट बनानी शुरू कर दी और अपने पति और अपने बेटे के सहारे से उन सभी परिवारों को वेरीफाई करवाने के लिए उनसे उनके आधार कार्ड चेक करवाएं। जब सारे सप्लाइज जमा हो गएँ तब भी उनके पति और बेटे ने इससे बांटने में उनकी मदद की। गुरुवार को जब तक ईद का चाँद दिखा तब तक करीब १७० धारावी के परिवारों को शाहीन के सौजन्य से राशन किट्स पहुँच चुके थें।

राशन की व्यवस्था पर क्या कहा शाहीन ने ?

शाहीन ने बताया की वो तो फिर भी ज़िंदा हैं पर जिन लोगों ने उनसे कॉन्टैक्ट किया है उनके पास खाने के लिए भी कुछ नहीं है। उनके मदद करने के इस जज़्बे को देखते हुए धारावी के कई रहने वालों ने भी आपस में पैसे जमा किये और  उनके एनजीओ में जमा करवा दिए। अभी शाहीन खुद आइसोलेशन वार्ड में है और उन्हें अपनी रिकवरी का इंतज़ार है ताकि वो फिर से महामारी में फसे लोगों की मदद करने निकल पाएं।

Email us at connect@shethepeople.tv