फ़ीचर्ड

क्या है Gaslighting? जानिए कैसे बनता है ये इमोशनल अब्यूस का कारण

Published by
Ritika Aastha

गैसलाइटिंग को हम एक तरह के इमोशनल अब्यूस की तरह डिफाइन कर सकते हैं जिसमें आक्रमणकारी विक्टिम को मैनिपुलेट करता है ये बोलकर की उनकी रियलिटी फेक है। ऐसे सिचुएशन में विक्टिम के मेमोरीज, थॉट्स और फीलिंग्स पे भी सवाल उठाए जाते हैं। गैसलाइटिंग जानबूझ की या फिर बिना किसी इरादे के भी किया जा सकता है। इसलिए अगर आप अपने कॉन्फिडेंस में पहले के मुकाबले कमी नोटिस करते हैं या फिर अपने एनवायरनमेंट के वजह से आप खुद पर भरोसा नहीं करते हैं तो हो सकता है की कोई आपको गैसलिट कर रहा है। गैसलाइटिंग एक इमोशनल अब्यूस है जिसे जब तक पहचाना जाए बहुत देर हो चुकी होती है। जानिए गैसलाइटिंग से जुड़े सारे फैक्ट्स:

1. आप कैसा मेहसूस कर कर रहे हैं?

कभी-कभी ये पहचानना मुश्किल हो जाता है की एक सिचुएशन में को इंसान आपको गैसलिट कर रहा है ये फिर आप सच में गलत हो। गैसलाइटिंग के लिए आप कुछ साइंस को चेक कर सकते हैं। अगर किसी की बातों से आपको अपने में कमी नज़र आए, अपने कंफिडेंस में गिरावट लगे, आप ज़रूरत से ज़्यादा माफ़ी मांगने लगे और हर बात को लेकर एंग्जायटी हो तो समझ जाए की आप गैसलाइटिंग के शिकार हुए हैं।

2. किन बातों का रखें ध्यान?

अगर कोई इंसान आपको मैनिपुलेट करने के लिए कुछ कहे तो कुछ विशेष शब्दों पर ध्यान दें। अगर कोई आपके कॉन्फिडेंस को गिराकर ये कहे की उसने ऐसा इसलिए किया क्योंकि वो आपसे प्यार या आपकी परवाह करता है या फिर कोई सारी गलती का श्रेय आपको ही दे दे तो समझ जाइये की वो इंसान आपको गैसलिट कर रहा है। जितनी जल्दी आप इन बातों को पहचान पाएंगे उतना आपके लिए अच्छा होगा।

3. किन स्टेजेस से गुज़रता है विक्टिम?

गैसलिट होने के बाद एक विक्टिम कई स्टेजेस से गुज़रता है जिनको अगर जल्दी आइडेंटिफाई कर लिया जाए तो आप बच सकते हैं। अगर आपको किसी की बातें सुनने के बाद उस इंसान की बातों के प्रति इंकार की भावना फील हो, अपने आप को लेकर स्लो एक्सेप्टेन्स आए की सामने वाला जो कह रहा है वो वाकई में सही है या फिर आपको किसी की बातें सुन कर डिप्रेशन फील हो तो समझ जाए की आप गैसलिट हो रहे हैं।

4. ऐसे सिचुएशन में क्या करें?

गैसलाइटिंग के सिम्पटम्स को पहचानने में अगर आप ज़्यादा लेट नहीं हुए हैं तो आप खुद को इससे बेहतर बचा पाएंगे। अगर कोई आपको बिना इंटेंशन के गैसलिट कर रहा है तो उस इंसान से जा कर बात करें और अपनी फीलिंग्स समझाएं। अगर वाकई में उनकी गैसलाइटिंग बिना इंटेंशन की थी तो वो अपना बर्ताव ज़रूर बदलेंगे। लेकिन अगर किसी ने आपको जानबूझ ककर गैसलिट किया है और आप उससे अपनी फेलिंग्स बताने जायेंगे तो वो कभी इस बात को अच्छे से नहीं लेगा। आप ऐसे में जो बेस्ट कर सकते हैं वो यही है की उस इंसान या उस सिचुएशन से अपनी दूरी बनाएं और अपने इर्दगिर्द पॉजिटिव माहौल बनाएं।

Recent Posts

मीराबाई चानू कौन है? जानिये टोक्यो ओलम्पिक 2020 में भारत को पहला मैडल दिलाने वाली महिला के बारे में

मणिपुर की 23 वर्षीय वेटलिफ्टर सैखोम मीराबाई चानू ने कॉमनवेल्थ गेम्स के पहले ही दिन…

4 mins ago

लोआ डिका टौआ ने बनाई वेटलिफ्टिंग ओलिंपिक में हिस्ट्री

इन्होंने कहा जब यह ओलिंपिक जीतकर रूम में आयी तब इनके सभी दोस्त इनके कह…

23 mins ago

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत का पहला मैडल : जानिये वेटलिफ्टर मीराबाई चानू की जीत से जुड़ी ये 6 बाते

वेटलिफ्टर मीराबाई चानू की जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर के दी…

55 mins ago

टोक्यो 2020 में भारत का पहला मैडल: वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने जीता सिल्वर मैडल

मीरा ने महिलाओं के 49 किग्रा वर्ग में सिल्वर मैडल जीता और चीन की झिहू…

1 hour ago

शमिता शेट्टी ने बड़ी बहन शिल्पा शेट्टी को मुश्किल वक़्त में किया सपोर्ट

शमिता ने शिल्पा की नयी फिल्म हंगामा 2 का पोस्टर शेयर करते हुए इंस्टाग्राम पर…

2 hours ago

क्या तारक मेहता का उल्टा चश्मा की मुनमुन दत्ता शो छोड़ने वाली है? जाने क्या है सच

मुनमुन ने अपने एक यूट्यूब वीडियो में 'भंगी' शब्द का इस्तेमाल किया था,तभी से वो…

2 hours ago

This website uses cookies.