कितने कप से ज्यादा चाय होती है नुकसानदायक? जाने ज्यादा चाय पीने के नुकसान क्या हैं ?

कितने कप से ज्यादा चाय होती है नुकसानदायक? जाने ज्यादा चाय पीने के नुकसान क्या हैं ? कितने कप से ज्यादा चाय होती है नुकसानदायक? जाने ज्यादा चाय पीने के नुकसान क्या हैं ?

SheThePeople Team

07 Jan 2022


चाय पीने के नुकसान: सुबह नाश्ते के साथ चाय न तो नाश्ता अधूरा लगता है, मेहमान आने पर चाय न बने तो स्वागत अधूरा लगता है, वो चाय न पीकर जाए तो मेहमानवाज़ी पूरी नहीं होती है। यह सब देखकर पता चलता है कि भारतीय लोगों के दिलो में चाय बस चुकी है। चाय शुरुआत में आयुर्वेदा के अनुसार मेडिकल प्रॉपर्टी की तरह इस्तेमाल होती थी पर अब लोगों को इसकी लत लग चुकी है जो उनके सेहत के लिए हानिकारक साबित हो रही है,आईए जानते है कैसे- 

ज्यादा चाय पीने के नुकसान - 


1.सीने में जलन का कारण

ज़्यादा चाय का सेवन करने से पेट का एसिड आंतो में चला जाता है जिसे एसिड रिफ्लक्स कहते है, जिसकी वजह से आंतो पर असर पड़ता है जलन, सूजन की समस्या आ सकती है। यह सीने में जलन का कारण बनता है और आंतो की बीमारियां होने का ख़तरा बढ़ जाता है। 

2. पेट के रोग बढ़ सकते है

गरम गरम चाय शरीर, मन को तरोताज़ा कर देती है पर दिन में 3-4 बार चाय का सेवन करने से पेट से जुड़ी समस्या बढ़ सकती है जैसे कि  कब्ज, पेट दर्द, पेट ख़राब, बदहज़मी आदि। चाय की चुस्कियां लेते समय मज़ा तो आता है पर बाद में यह आपके पेट के लिए समस्या खड़ी कर सकता है।

3. दवाई का असर कम करता है

अगर आप एंटीबायोटिक्स, क्लोजापीइन आदि दवाई का सेवन कर रहे है तो चाय का सेवन उनका असर कम कर सकता है। यह आपकी बीमारी को और बढ़ा सकता है। डायबिटीज पेशेंट के लिए चीनी वाली चाय से ब्लड शुगर लेवल बढ़ने की आशंका होती है।

4. अनिंद्रा

एक कप चाय में 20-30 मिलीग्राम कैफीन पाई जाती है। यह चाय की मात्रा अनुसार बढ़ या कम हो सकती है , इसका नुकसान यह है कि कैफीन नींद बाधा बनता है। रात को चाय का सेवन करने वालो की नींद उड़ जाती है। कैफीन दिल की धड़कन बढ़ा देती है जो तनाव, बेचैनी, शरीर के रसायनो में असंतुलन पैदा करती है।

5. आयरन की कमी

चाय में टेनिन नाम का तत्व पाया जाता है, चाय का जररूत से ज़्यादा सेवन करने से टेनिन शरीर में आयरन, प्रोटीन सोखने की क्षमता को 60% तक कम करता है जिससे शरीर में आयरन की कमी हो सकती है। अंत: चाय का सेवन दिन में दो बार से ज़्यादा न करें।


अनुशंसित लेख