How To Handle Argument In a Relationship: रिलेशनशिप के झगड़े को कैसे सुलझाए?

How To Handle Argument In a Relationship: रिलेशनशिप के झगड़े को कैसे सुलझाए? How To Handle Argument In a Relationship: रिलेशनशिप के झगड़े को कैसे सुलझाए?

SheThePeople Team

03 Feb 2022


Relationship: जब दो इंसानो की सोच व राय किसी बात को लेकर अलग हो तो तकरार ज़ाहिर सी बात है। रिलेशनशिप में वो खट्टी-मीठी नोकझोक तो होती ही रहती है पर अगर बात ज़्यादा बढ़ जाएं तो संभालना मुश्किल सा हो जाता है और सीधे बात, रिश्ता तोड़ने पर भी आ सकती है। कोई भी व्यक्ति अपनी सोच के हिसाब से गलत नहीं होता पर दोनों अगर अपने विचार को लेकर अड़ जाएं तो रिश्ते के बीच ईगो और गुस्सा आ जाता है। दूरिया बढ़ने लगती है और अगर रिलेशनशिप लॉन्ग डिस्टेंस हो तो कैसे हैंडल करें समझ नहीं आता। आईए जानते है,रिलेशनशिप में आर्गुमेंट को कैसे हैंडल करें?

1. सही मार्ग चुनें

टेक्स्ट मैसेज से लड़ाई की शुरआत हुई है तो उसे वहीं न रहने दें, बहस खत्म करने के लिए फ़ोन या वीडियो कॉल का रास्ता अपनाएं, ऐसे व्यक्ति के मूड का पता चलता है, क्या स्थिति है इसका पता चलता है। टेक्स्ट पर रोष,
क्रोध को बढ़ावा देता है।

2. अपने पार्टनर पर विश्वास करें

अगर आपका पार्टनर सॉरी बोलकर गलती मान रहा है, शांति का माहोल लाना चाह रहा है, रिश्ते को बचाने की कोशिश कर रहा है तो उनपर विश्वास करें। ज़िद्द पर अड़े रहना, ज़्यादा देर तक नाराज़ रहना रिश्ते को ख़राब कर सकता है, आपसी मतभेद को और बढ़ा सकता है।

3. बहस की जड़ तक जाएं

कभी-कभी एक छोटी सी मिसअंडरस्टैंडिंग बखेड़ा खड़ा कर सकती है। इन्सेक्युरिटी की वजह से एक दूसरे पर शक करना, व्यस्त होने पर बात ना करना आदि नाराज़गी पैदा करती है जो आगे जाकर गुस्से में तब्दील हो जाता है इसलिए किसी भी बहस की जड़ को पहचान कर बात खत्म करें।

4. एक बात पर ही रहे

अगर आप अपने पार्टनर की एक बात से नाराज़ है तो उसी को लेकर बात करें, बहस के बीच में पुरानी बातों को लाना रिश्ते पर भारी पड़ सकता है। यह आपके पार्टनर को और नाराज़ कर सकता है, स्थिति को सँभालने की जगह बिगाड़ सकता है।

5. ब्रेक लें

कुछ लोग जब गुस्सा होते है तो लड़ते है और कुछ चुप रहते है। रिलेशनशिप में अगर आप दूसरे से गुस्सा है तो सीधा लड़ने न लग जाए, एक दूसरे को समय दें, सोचने में वक्त लें और फिर एक दूसरे से बात करें। इससे गुस्सा शांत हो जाएगा और रिश्ता भी ख़राब भी नहीं होगा।


अनुशंसित लेख