Anxiety से ओवरकम करना है? खुद में करें ये 5 बदलाव

Anxiety से ओवरकम करना है? खुद में करें ये 5 बदलाव Anxiety से ओवरकम करना है? खुद में करें ये 5 बदलाव

SheThePeople Team

09 Aug 2021


Anxiety से ओवरकम करना - किसी तरह के डर, खतरे, दबाव या चुनौतीपूर्ण स्थिति में एंग्जायटी हो सकती है। इस तरह की स्थितियों में एंग्जायटी एक सामान्य प्रतिक्रिया है। एंग्जायटी अटैक बिना किसी चेतावनी के आता है।ऐसे में खुद को इस परिस्थिति के लिए तैयार रखना जरुरी है। एंग्‍जायटी यानी चिंता इंसान को मानसिक और शारीरिक रूप से झकझोर कर रख देती है।इसमें व्‍यक्‍ति का आत्‍मविश्‍वास कम हो जाता है और घबराहट महसूस होती है। अपने लाइफ में कुछ ऐसे बेसिक बदलाव जिनकी मदद से आपको एंग्जायटी से ओवरकम करने में आसानी होगी -Anxiety से ओवरकम करना 

1.नेगेटिविटी को करें बाय बाय

हम अपने आसपास की चीज़ों से उतने डिस्टर्ब नहीं होते जितना हमारे अंदर फैली नेगेटिव एनर्जी हमें डरा देती है। किसी नेगेटिव इंसान के टच में रहना और हमेशा सिचुएशन के नेगेटिव पॉइंट को देखना कहीं ना कहीं हमें डिमोटिवेट और डिमोरलाइज कर देता है जिससे पैनिक के चान्सेस बढ़ जाते हैं।नेगेटिविटी किसी भी स्टेज के लिए अच्छी नहीं है। इसीलिए जितना जल्दी हो सके खुद को इससे दूर करने की कोशिश करें ताकि ज़िन्दगी को अलग नज़र से देखने का मौका मिले।

2.फिजिकल एक्टिविटी है अच्छा ऑप्शन Anxiety से ओवरकम करना

एंग्जायटी के स्टेट में मंद काम करना बंद कर देता है और वो इंसान पैनिक की सिचुएशन में चला जाता है। ये पैनिक अटैक्स बहुत ही अनप्रिडिक्टेबल होते हैं और इसलिए इससे ओवरकम करने के लिए हमें खुद को किसी भी चीज़ में इन्वॉल्व करना बहुत जरुरी है। इसका सबसे अच्छा ऑप्शन फिजिकल एक्टिविटी होता है। इसमें ना सिर्फ फिजिकल हेल्थ इम्प्रूव होती है बल्कि मेन्टल पीस भी मिलता है। साथ ही एंग्जायटी होल्डर्स को कॉन्फिडेंस भी मिलता है।

3.Overthinking है गलत Anxiety से ओवरकम करना

एंग्जायटी अपने आप में बहुत प्रॉब्लम्स क्रिएट करती है। इंसान खुद को नेगेटिव समझने लगता है। इसमें सबसे बुरा रोल होता है ओवर थिंकिंग का , इस वजह से कई बार एंग्जायटी के केसेस ख़राब हो जाते हैं। इसलिए खुद को पॉजिटिव रखना जरुरी है। जब भी आपको एंग्जायटी अटैक आए तो अपने किसी दोस्त या करीबी से बात करें या उन्हें फोन करें। अगर आप किसी से सामने बैठकर अपनी परेशानी साझा करते हैं तो इससे आपका मन हल्का होता है और आपको अपनी परेशानी कम लगने लगती है। बातों को शेयर करने से उनपर ओवर थिंकिग का खतरा काम हो जाता है।

4.अरोमाथेरपी का लें सहारा 

अरोमाथेरपी भी एंग्‍जायटी में बहुत फायदेमंद होती है। तेल, मोमबत्ती या परफ्यूम के रूप में एरोमोथेरेपी ले सकते हैं। इसमें लैवेंडर, कैमोमाइल और चंदन शामिल है। ऐसा माना जाता है कि एरोमाथेरेपी मस्तिष्‍क के कुछ रिसेप्‍टर्स को सक्रिय कर देता है जिससे एंग्‍जायटी से लड़ने में मदद मिलती है।Anxiety से ओवरकम करना

5.अकेले बैठ कर करें विचार

कोई चीज़ देखकर या आवाज से पैनिक अटैक और बढ़ा सकती है। पॉसिबल हो तो किसी शांत एवं एकांत जगह पर जाकर बैठ जाएं। ऑफिस या मीटिंग रूम हैं तो वहां से निकल कर कोई एकांत जगह देखें। आंखों को बंद कर के सांस लेने की गति पर ध्यान दें और इस परिस्थिति से निकलने के लिए खुद को प्रोत्साहित करें।Anxiety से ओवरकम करना Anxiety से ओवरकम करना Anxiety से ओवरकम करना

 


 


 


अनुशंसित लेख