Importance Of Balanced Diet: बैलेंस डाइट क्यों है ज़रूरी? क्यों बैलेंस डाइट लेने की सलाह देते है एक्सपर्ट

Importance Of Balanced Diet: बैलेंस डाइट क्यों है ज़रूरी? क्यों बैलेंस डाइट लेने की सलाह देते है एक्सपर्ट Importance Of Balanced Diet: बैलेंस डाइट क्यों है ज़रूरी? क्यों बैलेंस डाइट लेने की सलाह देते है एक्सपर्ट

SheThePeople Team

11 Jan 2022


Importance Of Balanced Diet: भोजन शरीर को पोषण और दिमाग को मजबूती देता करता है। भोजन से हमारे हर अंग को ऊर्जा मिलती है जो शरीर को मजबूत  बनाएं रखती है और काम करने की क्षमता मिलती है। हर एक फ़ूड आइटम में अलग-अलग और ज़रूरी पोषण तत्व पाए जाते है, हर फ़ूड का लाभ उठाना और सबको डाइट में शामिल करना मुश्किल लगता है।

सिर्फ़ आहार को खाने से हमें उसके सारे गुण नहीं मिलते, बैलेंस डाइट मैंटेन करने से भोजन का पूरा लाभ उठाया जा सकता है। एक बैलेंस डाइट चार्ट में शरीर की जररूत अनुसार खाने को शामिल किया जाता है और उचित मात्रा में सेवन किया जाता है। आईए जानते है बैलेंस डाइट करने के फ़ायदे-

1. वज़न करती है कंट्रोल

जब डाइट बैलेंस होती है तो पाचन तंत्र तेज़ होता है, पहले से शरीर में जमा फैट बर्न होता है जिससे वजन कम होता है। बैलेंस्ड आहार मन को संतुष्टि प्रदान करता है जिससे तला हुआ, मसालेदार खाने की इच्छा कम होने लगती है जिससे वज़न कंट्रोल में रहता है।

2. इम्युनिटी बूस्ट करती है

संतुलित आहार में ड्राई फ्रूट्स से लेकर हरी सब्जियां शामिल होती है, अलग-अलग फलों के मिश्रण से शरीर को ज़रूरी तत्व जैसे कि एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन मिलते है जो व्यक्ति की इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करते है, शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है जिससे शरीर मजबूत बनता है।

 3. एनर्जी बनाएं रखता है

खाना खाने के बाद पेट तो भर जाता है पर आलास बहुत आता है इसकी वजह है हमारे खाने में ताल-मेल ना होना। एक सतुंलित आहार से शरीर को ऊर्जा मिलती है, काम करने की क्षमता आती है, शरीर में फुर्ती आती है, जोश का संचार होता है। व्यक्ति ख़ुशी और जोश से काम करता है, न ही आलास की वजह से सो जाता है।

4. अच्छी नींद आती है

सारा दिन ऊर्जा से काम करने के बाद शरीर थक जाता है और व्यक्ति सीधा बिस्तर पर लेट कर सो जाता है। संतुलित आहार से दिमाग को भी पोषण मिलता है जिससे व्यक्ति तनाव, डिप्रेशन और दुःख से दूरी बना लेता है और नींद अच्छे से आती है। दिमाग एकाग्र रहता है और ब्रेन सेल्स में वृद्धि होती है।

5. तरोताजा रहता है मन

व्यक्ति का मूड खाने पर निर्भर करता है अपना पसंदीदा भोजन करने से उसके चेहरे पर ख़ुशी आ जाती है जैसे चॉकलेट, केक, बर्गर, पिज़्ज़ा आदि। जब व्यक्ति बैलेंस डाइट को अपने जीवन का हिस्सा बना लेता है तो मन प्रफुलित रहता है। भोजन शरीर में गुड होर्मोनेस को जागृत करता है ,तन- मन प्रसन्न रहता है और दिन की शुरुआत अच्छी होती है।


अनुशंसित लेख