In 30s Women Embrace Motherhood: 30 की उम्र में अधिक महिलाओं ने अपनाया मदरहुड

In 30s Women Embrace Motherhood: 30 की उम्र में अधिक महिलाओं ने अपनाया मदरहुड In 30s Women Embrace Motherhood: 30 की उम्र में अधिक महिलाओं ने अपनाया मदरहुड

SheThePeople Team

27 Dec 2021


In 30s Women Embrace Motherhood: एक रिपोर्ट के मुताबिक, 30 साल की उम्र में अधिक महिलाएं मदरहुड को अपना रही हैं। अपने करियर पर ध्यान फोकस करने की इच्छा उन्हें अपनी शादी और मदरहुड को पोस्टपोन करने के लिए मजबूर कर रही है। उनके अनुसार, यह उन्हें फाइनेंसल्ली रूप से सुरक्षित होने की अनुमति देता है, और यदि आवश्यक हो तो अपने बच्चों को पालने के लिए उन्हें अपना करियर रोकने की अनुमति देता है।

In 30s Women Embrace Motherhood: यहां कुछ और चीजें हैं, जो आपको रिपोर्ट के बारे में जाननी चाहिए

-डॉ समीना एच, कंसलटेंट, आब्सटेट्रिक्स और गायनोकॉलोजी, जिन्होंने टीओआई के अनुसार, जो महिलाएं अपने पहले बच्चे की योजना बनाने से पहले उनसे संपर्क करती हैं, उनकी उम्र 28 से ऊपर है। पहली कन्सेप्शन आमतौर पर 30 के आसपास होती है।

-एक दशक पहले ऐसा नहीं था, जब महिलाएं 30 से पहले अपना पूरा परिवार बना लेती थी।

- गायनोकॉलोजी एक्सपर्ट के अनुसार, आजकल महिलाएं परिवार तभी शुरू करना पसंद करती हैं, जब वे प्रोफेशनली रूप से सेटल्ड हों और फाइनेंसल्ली रूप से सिक्योर हों।

-वह अपनी प्रेगनेंसी और प्रेगनेंसी के बाद के स्टेज का आनंद लेने के लिए भी उत्सुक हैं।

-बहुत सी महिलाएं भी अपने माता-पिता पर अपने डेलिवरी के मेडिकल एक्सपेंसेस का बोझ नहीं डालना चाहती हैं।

-गायनोकॉलोजी एक्सपर्ट का कहना है, कि माता-पिता पटर्निटी को अपनाने से पहले फाइनेंसियल स्टेबिलिटी प्राप्त करना चुनते हैं। हालाँकि, उन्होंने स्वीकार किया, कि यह चैलेंजे के अपने सेट के साथ आता है।

-उनके अनुसार, एक महिला के रिप्रोडक्टिव हेल्थ को डेटर्माइन करने के लिए ऐज महत्वपूर्ण है।

-जेस्टेशनल डायबिटीज, प्लेसेंटल अब्रप्शन, आक्लेम्पसिया, प्रीमेच्योर डिलीवरी और जेनेटिक अब्नोर्मलिटीज़ 30 में मदरहुड से जुड़ी कुछ समस्याएं हैं।

-उन्होंने सुझाव दिया, कि महिलाओं को प्रीनेटल केयर को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे प्रेगनेंसी से बचने में मदद मिलती है।

-"मैं एक हाइपोथायरायडिज्म रोगी हूं, जिसने 32 साल की उम्र में पुराने तरीके से कंसीव किया था। मैंने इमरजेंसी सी-सेक्शन के माध्यम से 34 सप्ताह में जन्म दिया था। मेरा बच्चा 1.5 किलोग्राम वजन से गंभीर रूप से कम पैदा हुआ था और घर आने से पहले 15 दिनों तक एनआईसीयू में रहा।

मैंने इंट्रायूटेराइन ग्रोथ रेस्ट्रिक्शन डेवेलोप किया था। माता-पिता के रूप में अब तक हमारे जीवन के सबसे बुरे दिन हमारे बच्चे के जन्म के पहले 15 दिन थे। क्या मुझे अपने जीवन में देर से कंसीव करने का पछतावा है? नहीं, क्योंकि जब मैंने इसके लिए तैयार महसूस किया तो मदरहुड को गले लगाना मेरी पसंद थी। मुझे लगता है, कि मैं उस क्राइसिस को संभालने में केपेबल नहीं होती, अगर मैंने कम उम्र में यह किया होता तो, और इसके लिए तैयार न होने से मामले और भी खराब हो जाते।”, मीडिया प्रोफेशनल के रूप में काम करने वाली दीपशिखा चक्रवर्ती ने SheThePeople.TV को बताया।

 


अनुशंसित लेख