Covishield Vaccine: UK ने आखिरकार भारत में बनी कोविशील्ड को दे दी मान्यता

Covishield Vaccine: UK ने आखिरकार भारत में बनी कोविशील्ड को दे दी मान्यता Covishield Vaccine: UK ने आखिरकार भारत में बनी कोविशील्ड को दे दी मान्यता

SheThePeople Team

22 Sep 2021


यूके में भारत की कोविशील्ड होगी लागू: कई दिनों से अपनी वैक्सीन पालिसी को लेकर विवादों में घिरे यूके ने आखिरकार भारत की कोविशील्ड को मान्यता देने का इरादा बना लिया है। अपनी पालिसी में हाल ही में, यूके ने कुछ बदलाव किये, जिसके तहत भारत में बनाई जाने वाली कोरोना वैक्सीन- कोविशील्ड को यूके में भी लागू किया जाने वाला है। 

यूके में भारत की कोविशील्ड होगी लागू: नई ट्रेवल गाइडलाइन्स हुई जारी 

कोविशील्ड के बारे में यूके की वैक्सीन पालिसी में काफी फेर-बदल किये गए। यूके ने अब भारत की बनी कोविशील्ड को अपने देश में मंजूरी दे दी है। हालांकि, इस वैक्सीन को लेकर अभीकोई गाइडलाइन्स जारी नहीं की गयी हैं, लेकिन यूके सरकार जल्द ही इसके ऊपर काम शुरू करने जा रही है।

यूके सरकार ने अपनी तरफ से कहा कि अगर किसी भारतीय ने कोविशील्ड की कोरोना वैक्सीन ली है और वह यूके जाता है तो उसे अभी भी क्वारंटाइन में रहना होगा। इस मामलें में भारत के सवाल किये जाने पर यूके ने किसी 'सर्टीफिकेशन' के अटक जाने की बात की। ये तो थी पहले की बात, लेकिन हाल ही में यूके सरकार ने अपनी नई एडवाइजरी में पुराणी वैक्सीन पालिसी को लेकर कुछ बदलाव किये हैं। 

क्या कहती है यूके की नई वैक्सीन एडवाइजरी

बता दें कि यूके की ताजा ट्रैवल एडवाइजरी 4 अक्टूबर से लागू होने वाली है। हालांकि, कुछ ही दिन पहले ऐसी ही एक एडवाइजरी लांच की गयी थी, लेकिन तब उसमें कोविशील्ड को यूके में मान्यता नहीं दी गयी थी। इस बात को लेकर काफी विवाद भी चला। बहरहाल, अब नई एडवाइजरी आने वाली है और उसमें कोविशील्ड का नाम जोड़ा गया है।

हाल ही में लांच होने वाली न्यू एडवाइजरी में लिखा गया है कि "चार लिस्टेड वैक्सीनों के फॉर्मूलेशन जिसमें एस्ट्राजेनिका कोविशील्ड, एस्ट्राजेनिका वैक्सजेवरिया, मॉडर्ना टाकेडा को वैक्सीन के रूप में अप्रूवल दिया जाता है।" इस बात से ये प्रमाणित होता है कि कोविशील्ड को अब यूके में मान्यता मिल ही जाएगी।

क्या थी पुरानी एडवाइजरी

यूके की पहली वैक्सीन एडवाइजरी में भारत के कोविशील्ड को अमान्य करार दिया गया था। अगर भारत से कोई यूके आता तो वहां की वैक्सीन पालिसी के तहत उस पैसेंजर को क्वारंटाइन होना पड़ता। इसका मतलब था कि भारत की वैक्सीन के बावजूद यूके उस आदमी को वक्सीनेटेड नहीं मानता। यूके में केवल ऑस्ट्रेलिया, एंटीगुआ और बारबुडा, बारबाडोस, बहरीन, ब्रुनेई, कनाडा, डोमिनिका, इज़राइल, जापान, कुवैत, मलेशिया, न्यूजीलैंड आदि अलग देशों में लगायी हुई वैक्सीन वालों को किसी क्वारंटाइन की जरुरत नहीं पड़ने वाली थी। लेकिन अब भारत भी इन देशों में शामिल हो गया है।


अनुशंसित लेख