Career After Marriage? क्या महिलाओं का शादी के बाद करियर के बारे में सोचना गलत है?

Career After Marriage? क्या महिलाओं का शादी के बाद करियर के बारे में सोचना गलत है? Career After Marriage? क्या महिलाओं का शादी के बाद करियर के बारे में सोचना गलत है?

SheThePeople Team

22 Oct 2021


शादी के बाद करियर: शादी से पहले, एक लड़की या तो घर पर रहती है या तो नौकरी करती है। उस समय में उन्हें कोई रोक टोक नहीं होती काम या नौकरी करने के लिए, लकिन ये सब चीज़े बदल जाती है जब शादी का समय आता है। हाँ शादी! हर लड़की अपने सपनों के लड़के के आने का इंतजार करती है और उम्मीद करती है कि उनका जीवन एक फैरी टेल की तरह होगा।

हमेशा के लिए खुशी से जीना बस लेकिन शादी के बाद की परिस्थितियों का क्या है? शादी के बाद लड़की को कहा जाता है की घर में रहो घर का काम देखो और बच्चे संभालो और नौकरी करना भूल जाओ। उन्हें नौकरी करनी चाहिए ताकि वे अपने जीवनसाथी को घरेलू आय में योगदान करने के लिए पूरक बना सकें।

शादी के बाद करियर के और महिलाओं को क्यों जाना चाहिए - 


1. स्वतंत्र बनना सीखें


घर पर रोज़ाना रोबोटिक तरीके से काम करना आपको यह महसूस कराना शुरू कर सकता है कि आप एक स्वतंत्र जीवन के योग्य नहीं हैं। लेकिन जब आप काम करना शुरू करते हैं तो पारिश्रमिक के रूप में जितनी रकम कमाते हैं, उस से आपको किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है।

आप नौकरी करना शुरू नहीं करते हैं, आपको कुछ लेना होगा या खरीदना होगा तो आप अपने पति पर निर्भर होंगे उसके लिए। यह सच है कि परिवार के बिना जीवन अधूरा है लेकिन खुश रहने के लिए सोचने और कार्य करने के लिए स्वतंत्र होना भी जरूरी है।


2. आर्थिक पर्याप्त


शादी के बाद अगर आप फुल टाइम होम मेकर हैं तो घर में होने वाली फाइनेंसियल चर्चाओं में शायद ही आपका कुछ कहना होगा।
लेकिन अगर आप काम और घर को एक साथ संभालने का फैसला करते हैं, तो आप घरेलू बजट में अपनी इनकम का हिस्सा देंगे और आप अपने मन मर्ज़ी खर्चो को संभालने की स्वतंत्रता का भी आनंद लेंगे। शादी के बाद करियर से आपके परिवार के सदस्यों के मन में भी आपके प्रति सम्मान पैदा होगा।


3. जीवन से संतुष्टि


शादी के बाद, एक लड़की अपने परिवार और उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए दिन-रात काम करने में खुद को पूरी तरह से समर्पित कर सकती है। वह अपने बच्चों की परवरिश करती है और अपनी सभी जरूरतों का त्याग करके उन्हें पढ़ाती है। अगर वह अपने परिवार की देखभाल करते हुए नौकरी करती है, तो उसे अंदर मन से संतुष्टि भी मिलेगी।


4. एक आदर्श माँ


जब आप शादी करने और बच्चे पैदा करने के बाद अपने जीवनसाथी के साथ फाइनेंशियल जिम्मेदारी साझा करने और उच्च आत्मसम्मान बनाए रखने के लिए काम करते हैं, तो आप समाज के सामने एक मिसाल कायम करते हैं। आप उन्हें साबित करते हैं कि जीवन में संतुलन स्थापित करने के लिए आपको बस अपने काम और घर के सही प्लानिंग और डेडिकेशन की आवश्यकता है।

शादी के बाद करियर से आप एक आदर्श माँ के रूप में प्रस्तुत हैं और आप समाज को यह सबक सिखाने में सक्षम हैं कि महिलाएं मल्टी-टास्किंग और विवाह में कुशल हैं और बच्चे उनके विकास में बाधा नहीं बन सकते हैं।


अनुशंसित लेख