Jyada Chini Khane Ke Nukasan: जानिए ज्यादा चीनी खाने से शरीर को क्या नुक्सान होता है

Jyada Chini Khane Ke Nukasan: जानिए ज्यादा चीनी खाने से शरीर को क्या नुक्सान होता है Jyada Chini Khane Ke Nukasan: जानिए ज्यादा चीनी खाने से शरीर को क्या नुक्सान होता है

SheThePeople Team

02 Nov 2021




Jyada Chini Khane Ke Nukasan: चीनी खाना सबको पसंद होता है और चीनी से बनी चीजें और मिठाई कई लोगों को बहुत पसंद हो होती है। लेकिन क्या चीनी का ज्यादा सेवन करना सेहत के लिए ठीक है? नहीं! चीनी का ज्यादा सेवन करने से शरीर को है कई सारे नुकसान। जानिए ज्यादा चीनी खाने के नुकसान।

Jyada Chini Khane Ke Nukasan: ज्यादा चीनी खाने के नुकसान


1. मोटापा


चीनी खाने से ब्लड में शुगर लेवल ज्यादा हो जाती है। इस कारण शरीर में फैट की मात्रा बढ़ती है और शरीर सुस्त हो जाता है। चीनी सिर्फ मिठाइयों में नहीं बल्कि जंक फूड में भी होती है और कई ऐसे चीजों में चीनी पाई जाती है जिसके बारे में हम सोच भी नहीं सकते। इसलिए चीनी का सेवन कम करें ताकि आपका वजन ना बड़े।


2. डायबिटीज


अक्सर डॉक्टर डायबिटीज के पेशेंट को चीनी का सेवन बंद करने के लिए कहते हैं। खासकर टाइप टू डायबिटीज वाले लोगों को डॉक्टर चीनी की चीजें ना खाने के लिए कहते हैं। ज्यादा चीनी खाने से शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है जिसके वजह से कुछ समय बाद आपको हाय शुगर की बीमारी हो सकती है।


3. कैंसर


ज्यादा चीनी खाने से कैंसर होने की संभावना बढ़ती है। ज्यादा चीनी खाने से शरीर के सेल्स की ग्रोथ बढ़ती है और सेल्स मरते नहीं है बल्कि और ज्यादा बड़े होते हैं जो कि कैंसर होता है। इसलिए चीनी नियंत्रित तरीके से खाएं ताकि आपको कैंसर जैसी भयानक बीमारी से कोई खतरा ना हो।


4. हृदय रोग


चीनी ज्यादा खाने से शरीर में फैट्स की मात्रा बढ़ती है। शरीर के कई भाग जैसे लिवर, किडनी और ह्रदय के आसपास फैक्ट्स बढ़ता है। इसके वजह से शरीर में ब्लड सरकुलेशन सही तरीके से नहीं होता। इन सब समस्याओं के वजह से ह्रदय रोग बढ़ सकता है। चीनी का ज्यादा सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत और हृदय के कई रोगों का सामना करना पड़ता है।


5. डिप्रेशन


ज्यादा चीनी खाने से शरीर में सुस्ती आती है। इसके अलावा कितना भी खाना खाने के बाद मन नहीं भरता हमेशा भूख लगी रहती है। इस वजह से डिप्रेशन आता है और हमारे सोचने की क्षमता कम होती है। इसका सीधा असर फिर हमारे दिमाग पर पड़ता है और काम में ध्यान नहीं लगता।


अनुशंसित लेख