आजकल हर किसी के हाथ में मोबाइल फोन है. बच्‍चे भी इससे  छूते नहीं हैं. वे भी पढ़ाई से लेकर डेली रूटीन की हर चीज किसी से पूछने के बजाए इंटरनेट पर ही ढूंढते हैं इस दौरान वे कई बार गलत राह भी चले जाते हैं. भटक जाते हैं. वे एडल्‍ट कंटेट या पॉर्न देखने लगते हैं. आज हम आपको बता रहे हैं कि ऐसी स्थितियों को आप कैसे हैंडल करें. कैसे छुड़ाएं अपने बच्चे की पोर्नोग्राफी देखने की आदत -:

image
  • बच्चे के साथ दोस्ताना व्यवहार करके उससे पोर्न के बारे में करें बात

बेशक, अपने बच्चे से पोर्न के बारे में बात करना दुनिया का सबसे मुश्किल काम है। लेकिन यदि आप और आपका बच्चे एक दूसरे से रोजाना सेक्स, सहमति, बॉडी एक्सेप्टेंस, सेक्सुअल सेफ्टी, यौन आनंद, प्रेगनेंसी सहित अपने शरीर और ओवरऑल हेल्थ के बारे में बात करें तो फिर पोर्न के बारे में भी उसे समझाना आसान हो सकता है। अगर आपका बच्चा पोर्न देखते हुए पकड़ा जाता है तो उसकी पिटाई ना करें बल्कि उसके साथ फ्रेंडली बिहेव करें और उसी दिन से उसको इंसान की एनाटॉमी के बारे में बताना शुरू करें और फिर उसे सेक्स एजुकेशन दें। इस तरह से जब आप दोनों एक दूसरे के साथ खुलेंगे तो उससे पोर्न के बारे में बात करना आसान हो जाएगा।

  • बच्चा पोर्न देखता है तो उसे सेक्स एजुकेशन देकर समझाएं

ज्यादातर घरों में बच्चे पढ़ाई के लिए इंटरनेट की हेल्प लेते हैं और उनका स्टडी रुम अलग होता है। जिससे मां बाप हमेशा यह देख नहीं पाते हैं कि बच्चा इंटरनेट पर क्या कर रहा है। अगर वह पोर्न देखते हुए पाया जाता है तो मां बाप बहुत स्ट्रिक्ट हो जाते हैं और इंटरनेट का कनेक्शन कटवा देते हैं। हालांकि यह इस प्रॉब्लम का सोल्यूशन नहीं है। बच्चे ने जब पोर्न देखा तो पर्याप्त नॉलेज ना होने के कारण उसके मन में कई सवाल आएंगे, वह कुछ चीजें खुद पर ट्राई करेगा और फिर से वो चीज देखने के लिए कोई ना कोई जुगाड़ करेगा या फिर अपने दोस्तों के घर जाकर उन्हें बताएगा और उनके साथ इंटरनेट पर पोर्न देखेगा। इससे उसके साथ और भी बच्चे बिगड़ सकते हैं।इसलिए जब आप अपने बच्चे को ऐसा करते हुए देखें तो इंटरनेट ब्लॉक ना करवाएं बल्कि उसे समझाएं कि यह गलत है और तुम्हारे काम की चीज नहीं है।

  • पोर्न के बारे में बच्चे को समझाएं कि यह अनरियल वर्ल्ड है

बच्चा अगर पोर्न देखता है तो उसके सेक्सुअल डिजायर, शारीरिक संरचना और रिप्रोडक्शन ऑर्गन आदि के बारे में बताएं। सेक्स रिलेशनशिप का एक पार्ट है लेकिन सिर्फ एडल्ट के लिए। पोर्न सिर्फ एक भ्रम है और एक अनरियल वर्ल्ड है। इसमें जो कुछ भी होता है वह रियल लाइफ में नहीं होता है। इसलिए पोर्न देखकर कुछ भी सीखने की या फिर वैसा सोचने की जरूरत नहीं है। बच्चे को बताएं कि एडल्ट होने के बाद जब तुम्हें मैच्योरिटी आ जाएगी तो बहुत सी चीजें अपने आप समझ में आ जाएंगी लेकिन अभी यह सब तुम्हारे लिए ठीक नहीं है।

  • बच्चा पोर्न देखता है तो समझाएं कि रियल सेक्स इमोशन से आता है

आपका बच्चा चोरी चोरी पोर्न देखता है तो वह गलत चीजें ना सीखने लगे। इसके लिए बच्चे से रोजाना बातें करें और जब वह आपके साथ बात करने में कंफर्टेबल फील करे तो उसे बताएं कि पोर्न वीडियो लोग पैसे के लिए बनाते हैं। इससे कुछ भी सीखा नहीं जा सकता और इसमें बहुत सी चीजें फेक होती हैं। रियल सेक्स इमोशन से पैदा होता है इसलिए तुम्हें इसे देखना बंद कर देना चाहिए या फिर इसे देखकर कुछ गलत हरकतें नहीं करनी चाहिए। जब आप बच्चे को पोर्न के बारे में भ्रमित करेंगे तो फिर उसे समझाना बहुत आसान हो जाएगा।

पढ़िए-बच्चों को सेक्स एजुकेशन देने के 6 कारण

Email us at connect@shethepeople.tv