Kareena Kapoor On Gender Equality: करीना ने कैसे सिखाया अपने बच्चे तैमूर और जेह को जेंडर इक्वलिटी

Kareena Kapoor On Gender Equality: करीना ने कैसे सिखाया अपने बच्चे तैमूर और जेह को जेंडर इक्वलिटी Kareena Kapoor On Gender Equality: करीना ने कैसे सिखाया अपने बच्चे तैमूर और जेह को जेंडर इक्वलिटी

SheThePeople Team

22 Oct 2021

Kareena Kapoor On Gender Equality - बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान फ़िलहाल दो बच्चों की माँ हैं और यह हमेशा ऐसी बातें कहती आयी हैं जिसे लोग मानते हैं। करीना का कहना है कि माँ बच्चे के लिए उसके बाप के बराबर ही होती है। करीना के दो बेटे हैं तैमूर और जेह और करीना हमेशा यह ध्यान में रखती हैं कि बच्चों को सिखाना है कि माँ भी घर में उतनी ही जरुरी है जितना पिता होता है।

करीना का महिलाओं के काम करने को लेकर क्या कहना है? Kareena Kapoor On Gender Equality


यह इस तरह से बच्चों को पाल पोसकर बड़ा करना चाहती हैं कि वो घर से सीख जाएं और जेंडर इक्वलिटी सीख जाएं। जेंडर इक्वलिटी घर में होना सबसे जरुरी होती है। अक्सर बच्चे सोचते हैं कि घर में पिता ही सब कुछ होता है और माँ को इत्ती तवज्जो नहीं देते हैं। करीना ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि जब भी यह बाहर जाती हैं या जूते पहनती हैं और तैमूर उनसे पूछता है कि आप कहाँ जा रही हो तो वो हमेशा यही कहती हैं कि में काम पर जा रही हूँ या शूट पर जा रही हूँ या मीटिंग में जा रही हूँ। इससे बच्चे के मन में यह रहता है कि हाँ माँ भी काम करती हैं जैसे कि पापा करते हैं।

करीना ने यह भी कहा कि हम दोनों सैफ और करीना घर के लिए काम करते हैं यह अच्छे तरीके से दोनों को पता है। करीना का मन्ना है कि जब बच्चे को लगता है कि माँ बाहर जाती है, काम करती है ताकि उनको एक अच्छी लाइफ मिल तो आप आधी जुंग तो जीत ही चुके हैं।

महिलाओं ने अपना अधिकार समझना चाहिए और अपने अधिकार के लिए लड़ना चाहिए। अगर किसी महिला को लग रहा है कि उनका हक छीना जा रहा है तो उसके लिए खड़ा होना यह जरूरी बात है।

करीना का महिलाओं को लेकर क्या कहना है?


महिलाओं ने असफलता के बारे में ज्यादा सोचना नहीं चाहिए बस खुशी से अपना काम करना चाहिए। महिलाओं ने अपनी सेहत का ध्यान रखना चाहिए और योगा और कसरत को अपनी जिंदगी में जरूर अपनाना चाहिए। फिटनेस जिंदगी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, किसी भी महिला ने अपने फिटनेस को अनदेखा नहीं करना चाहिए। हमेशा जो आपका दिल कहे वही करना चाहिए, चाहे उसके लिए कितनी भी मेहनत करनी पड़े पीछे नहीं हटना चाहिए। अगर कोई आपको आपके रहन-सहन को लेकर या आपके फैसलों होने पर कुछ सवाल उठा रहा है तो उसे अनदेखा कीजिए। लोगों का काम है कहना आप इसे दिल पर मत लगाइए।

अनुशंसित लेख