हर किसी के प्यार के एक्सपीरिएंसेस अलग होते हैं। हर कोई प्यार को लेकर अलग तरह की ऐडवाइस देता है और आप किसी की बात को तभी मानते हैं जब आपने ख़ुद वैसा महसूस किया हो। प्यार करने का कोई एक तरीका नहीं होता लेकिन प्यार को लेकर कुछ धारणाएँ बन चुकी हैं जो गलत हैं। आज हम उन्हीं धारणाओं को चैलेंज करते हुए आपको कुछ ज़रूरी लव लेसन्स देंगे।

यहाँ पढ़िये ख़ुद को देने वाले 5 लव लेसन्स –

1. प्यार बस हो जाता है

आप कितने भी समझदार हों, जब बात प्यार की आती है तो आप नाप-तौल नहीं कर पाते। भले ही आपने अपना एक “टाइप” बना लिया हो पर आपको किससे प्यार होगा ये आपके बस में नहीं है। प्यार किसी भी तरह की बाउंड्री नहीं देखता। इस प्रक्रिया में आपके लिए सामनेवाले का धर्म, जाति, स्टेट इत्यादि कुछ भी मायने नहीं रखता।आपको प्यार की तलाश करने की ज़रूरत नहीं पड़ती, जब सही इंसान मिलेगा, आपको ख़ुद ही प्यार हो जाएगा।

2. प्यार आपको बहतर बनाएगा

प्यार आपके उन पहलुओं को निखारता है, जो हमेशा से आपके अस्तित्व में दबे हुए थे। आप बिल्कुल अलग और स्पेशल फील करते हैं। प्यार आपको बेहतर इंसान बनने में मदद करता है क्योंकि आप पार्टनर के लिए ख़ुद पर वर्क करते हैं। आप पहले से ज़्यादा पेशेंट और सेंसिटिव होना सीखते हैं। आपको सुनने की आदत पड़ती है। आप किसी और की खुशी के बारे में सोचना शुरू करते हैं।

3. इसमें त्याग करने पड़ते हैं

प्यार को जिस ढंग से मूवीज़ में पेश किया जाता है, वो वैसा हकीकत में नहीं है। असल ज़िंदगी में सब कुछ पर्फेक्ट नहीं होता इसलिए कई बार सामनेवाले की खुशी के लिए आपको ऐडजस्टमेंट करनी पड़ती है।अगर आप सिर्फ़ अपने बारे में सोचते रहेंगे तो आपका रिलेशनशिप नहीं चल पाएगा।

4. प्यार एक तरफ़ा भी होता है

अकसर बॉलीवुड फ़िल्म्स और टीवी सीरियल्स में दिखाते हैं कि लड़के ने लड़की को पसंद किया, कुछ दिन उसके आगे-पीछे घूमा और लड़की भी रिलेशनशिप के लिए राज़ी होगयी। लेकिन ये गलत है। आप जिससे प्यार करते हैं, ज़रूरी नहीं कि वो भी आपसे प्यार करे। सामनेवाला इंसान आपको रिजेक्ट भी कर सकता/सकती है। इस रिजेक्शन से डील करना सीखिये। आप किसी को ख़ुद से प्यार करने के लिए फोर्स नहीं कर सकते। ये हरासमेंट का रूप ले लेगा। इस बात को एक्सेप्ट करिये कि प्यार एक तरफ़ा भी होता है।

5. केवल रूप देख कर प्रेम संभव नहीं

मैं नहीं मानती कि ‘लव ऐट फर्स्ट साइट’ जैसा कुछ एग्सिस्ट करता है। किसी का चेहरा या पर्सनालिटी देख कर आपको उसपर क्रश तो हो सकता है पर प्यार नहीं। प्यार इंसान के बर्ताव और गुणों से होता है। अगर आप किसी व्यक्ति के प्रति केवल फिज़िकली अट्रैक्टेड होते हैं तो जल्द ही उनमें इंटरेस्ट खो देते हैं क्योंकि आपने उन्हें पर्सनल लेवल पर जाने बिना केवल लुक्स के आधार पर पसंद किया था।

ये थे ख़ुद को दिये जाने वाले कुछ लव लेसन्स।

Email us at connect@shethepeople.tv