टेलीविजन एक्ट्रेस किश्वर मर्चेंट (Kishwer Merchant) और सुयश राय (Suyyash Rai) के घर अगस्त में आएगा नन्हा मेहमान।किश्वर सुयश से 9 साल बड़ी है ,इस कपल ने 2016 में शादी की थी और ऐसा कर के उन्होंने उम्र की दीवारों को तोड़ा है। अब यह कपल अपने पहले बच्चे का एक साथ स्वागत करने के लिए तैयार है, तो इस साल अगस्त में, एक और दीवार टूट गई है, और वो है लेट प्रेगनेंसी की।Kishwer Merchant Late pregnancy in Hindi

कपल्स से प्रेगनेंसी और बच्चे के बारे में पूछना प्रोब्लेमैटिक क्यों है?

किश्वर 40 साल की उम्र में माँ बन रही है ,उन्हें उनकी उम्र माँ बनने के रास्ते में रुकवाट नहीं लगती। हमारी इंडियन फैमिलीज़ में शादी होते ही घर के लोग बच्चे की उम्मीद करने लगते हैं ,क्या आप ऐसा कर के कपल्स पर दबाव नहीं डालते?

जहां तक ​​एक निश्चित उम्र में गर्भावस्था के शारीरिक दबाव का सवाल है, हां, उस पर विचार करने की आवश्यकता है। लेकिन इससे परे, सोशल कंस्ट्रक्शन ठीक करने की ज़रूरत है। क्योंकि किसी भी उम्र के हिसाब से पेरेंट्स बनना गलत नहीं है। इंस्टाग्राम पर किश्वर ने अपनी प्रेगनेंसी की खबर की घोषणा करते हुए कैप्शन में लिखा ‘अब आप लोग मुझे ये पूछना बंद कर सकते हैं कि हम कब मां-पापा बनने वाले हैं।’

“Late pregnancy” नहीं सिर्फ़ “Pregnancy” कहें !

हमे अपनी सोच और शब्दों को बदलने की ज़रूरत है , “late pregnancy” या “delayed” जैसे शब्दों के इस्तेमाल से हम क्या साबित करना चाहते है? माँ बनने की कोई निश्चित उम्र होती है? जब आप फिजिकली और मेंटली तैयार हो तब ही पैरेंट्स बनना चाहिए।

वैस्ट सेलिब्रिटी जैसे Halle Berry, Julianne Moore और Meryl Streep 40 की उम्र के बाद माँ बनकर समाज के इस बेकार नियमों को तोड़ा है। एक महिला का शरीर जानता है कि वह क्या चाहती है। एक महिला के मन में क्या है वह उसे सिर्फ समाज की इच्छाओं के अनुसार नहीं कर सकती है।

“late pregnancy” सिर्फ़ एक मिथ है एक ऐसा नासमझ मिथ जो लंबे समय समाज के हिसाब से महिलाओं की पसंद बनाना चाहता है। लेकिन हर महिला को अपने हिसाब से जीवन जीने का हक़ है ,उन्हें समाज की इन बातो पर ध्यान नहीं देना चाहिए। प्रेगनेंसी पति -पत्नी के बीच का मामला है ,जब उन्हें लगेगा के वे अब पेरेंट्स बनने के काबिल है ,तभी उन्हें ये फैसला लेना चाहिए। Kishwer Merchant Late pregnancy in Hindi

Email us at connect@shethepeople.tv