ब्रेस्ट मे दर्द, सूजन या टाइटनेस यानि कसापन लगना महिलाओं में आम बात होती है। ये सारे लक्षण ज्यादातर सीरियस नहीं होते है और इसको ब्रैस्ट टेंडरनेस कहा जाता है। ब्रैस्ट टेंडरनेस के कारण है जैसे की हार्मोनल बदलाव की वजह से या रिप्रोडक्टिव बदलाव। कभी कभी हम हमारे खान-पान में कुछ बड़े बदलाव करते हैं जिस के कारण भी हमे ब्रैस्ट टेंडरनेस हो सकती है। अगर हम कोई अलग से दवाइयाँ ले रहे हैं तो उसकी वजह से भी दर्द हो सकता है। ये हर व्यक्ति मे अलग अलग तरीके से और अलग अलग वजह से होता है। जरुरी नहीं होता की हर किसी के ब्रैस्ट में दर्द होने का मुख्य कारण ब्रैस्ट कैंसर ही हो।

किसी को ब्रैस्ट में दर्द अंदरूनी तो किसी को बाहर के बदलाव की वजह से होता है।
अंदरूनी में हार्मोनल और रिप्रोडक्टिव बदलाव आते हैं। बाहरी में खान-पैन , दवाइयां या कोई चोट जैसी चीज़ें आती है।

ब्रेस्ट टेंडरनेस के मुख्य कारण –

हार्मोनल बदलाव

पीरियड्स के आने के 3 -4 दिन पहले से आपके ब्रैस्ट मे सूजन और दर्द हो सकता है। इसका कारण हार्मोन प्रोजेस्ट्रोन और एस्ट्रोजन होता है। ब्रैस्ट टेंडरनेस होने का दूसरा कारण है प्रेगनेंसी।

फ़िब्रोसिस्टिक बीमारी

कई महिलाओ को ये 20 से 50 साल की उम्र के बीच में होता है। इस में ब्रैस्ट की ज्यादा ग्रोथ के कारण ब्रैस्ट में सूजन हो जाती है और गाँठ जैसी बन जाती है पर इस से कोई नुकसान नहीं होता इसलिए डरिये मत।

ब्रेस्टफीडिंग

ब्रेटफीडिंग के वक़्त भी आपको टेंडरनेस हो सकती है इसका कारण है ज्यादा दूद बनना या ब्रैस्ट की स्किन का खिचने की वजह से।

मेडिकेशन्स

किसी किसी को गर्व निरोधक दवाइयों से भी ब्रैस्ट टेंडरनेस हो सकती है

डाइट मे बदलाव

कभी कभी हम हमारे खान-पान में कुछ बड़े बदलाव करते हैं जिस के कारण भी हमे ब्रैस्ट टेंडरनेस हो सकती है।

Email us at connect@shethepeople.tv