फ़ीचर्ड

क्या आपने एक गलत लाइफ पार्टनर चुन लिया है? 7 Signs से जानें

Published by
Sakshi

शादी में परेशानियां होना आम बात है लेकिन परेशानी अगर पार्टनर में हो तो उसका हल निकालना मुश्किल हो जाता है। क्या आप भी अपनी शादी को लेकर इनसिक्योर महसूस करती हैं? क्या आपकी शादी में प्यार की कमी है? क्या आप अपने पति के साथ खुश नहीं है? अगर हाँ तो चांसेस हैं कि आपके पति आपके लिए सही लाइफ पार्टनर न हो। अगर आपने गलत इंसान से शादी कर ली है तो ये हैं सिग्नस

इन 7 signs से समझिए कि क्या आपने गलत इंसान से शादी कर ली है –

1. वो आप पर शारीरिक हिंसा करते हैं

औरत को फिज़िकली और मेंटली अब्यूज़ करने वाला इंसान कभी सही नहीं हो सकता। अगर शादी के बाद से आपके पति लड़ाई झगड़े में आप पर हाथ उठाने लगे हैं या आपके करेक्टर पर सवाल कर आपको टॉर्चर करने लगे हैं तो वो अच्छे पति नहीं है। ऐसे इंसान से अलग हो जाने में ही आपकी भलाई है।

2. वो आपका और आपके रिश्तेदारों का मज़ाक उड़ाते हैं।

अगर आपके पति अकेले में या अपने घरवालों के सामने आपको और आपके परिवार को भला बुरा कहते रहते हैं तो आपने गलत इंसान से शादी करली है। शादी में दोनो पार्टनर्स बराबर होते हैं और दोनो के परिवारों का उतना ही मोल होता है, ऐसे में पत्नी या उसके घरवालों का मज़ाक उड़ाना इस सोच को दर्शाता है कि इस रिश्ते में आप कितनी ग़ैर ज़रूरी हैं और वो कितने ज़्यादा ज़रूरी हैं।

3. वो आपको अपने पेरेंट्स की ज़िम्मेदारी लेने से रोकते हैं।

बुढ़ापे में पेरेंट्स की ज़िम्मेदारी हर कोई लेना चाहता है, चाहे लड़का हो या लड़की। आपके पति ख़ुद तो अपने माँ-बाप की सेवा करते हैं लेकिन आपसे इसके विपरीत आशा रखते हैं। वे चाहते हैं कि आप अपना मायका भुला कर पूरी तरह से ससुराल की सेवा में लगी रहें। एक स्त्री से उसके माँ-बाप की सेवा का अधिकार छीनना उनकी पितृसत्तात्मक सोच कि निशानी है और ऐसा आदमी आपके लिए सही नहीं हो सकता।

4. आपको रिश्ते में प्यार की कमी महसूस होती है

शादी का सबसे बड़ा गोल है साथ। साथ के लिए प्यार का होना ज़रूरी है। प्यार शादी की नींव होती है। अगर आपको अपने पार्टनर की तरफ़ से प्यार की कमी महसूस होती है या आपको ही उनके प्रति आकर्षण नहीं होता और अपनी फीलिंग्स खत्म होते नज़र आती हैं तो आप एक लवलेस मैरिज में हैं। हो सकता है आपके पति आपके लिए सही लाइफ पार्टनर न हों। इसका ये मतलब नहीं है कि आपमें या उनमें कोई कमी है, बस आप एक दूसरे के लिए सही नहीं है।

5. वो कंसेट का मतलब नहीं समझते।

भारत में मैरिटेल रेप क्राइम नहीं है इसलिए आपकी शादी में कंसेट की एहमियत होने के लिए आपके पति का अच्छा होना ज़रूरी है। यदि वो आपके शरीर पर अपना अधिकार समझते हैं और आपके ‘ना’ बोलने पर भी आपके साथ सेक्स करते हैं तो कानूनी तौर पर वो भले अपराध न हो, प्रैक्टिकल ग्राउंड पर ये रेप ही है। ज़ाहिर सी बात है एक रेपिस्ट अच्छा पति नहीं है।

6. वो आप पर हमेशा शक करते हैं।

क्या आपके पति आप पर बहुत ज़्यादा शक करते हैं और आप पर नज़र भी रखते हैं? अगर ऐसा है तो आपने गलत इंसान से शादी करली है। अपने पार्टनर को लेकर हर कोई थोड़ा पोस्सेस्सिव होता है लेकिन इस हद तक नहीं कि उसका फ़ोन चेक करने लगे, बाहर आने जाने पर नज़र रखने लगे या हर चीज़ पर रोक टोक करने लगे। इतना पोस्सेस्सिव होना ख़तरनाक है। वैसे भी ट्रस्ट के बिना रिश्ता ज़्यादा दिन नहीं चल सकता।

7. वो आपको चीट कर रहे हैं।

हो सकता है आपके पति आपके साथ खुश न हों लेकिन अगर इसके बारे में आपसे बात करने की बजाय वो आपको चीट करने लगें तो वो बेहद गलत हैं। रिश्ते में किसी एक की लॉयल्टी खत्म हो भी जाए तो ऑनेस्टी रहनी चाहिए।

पढ़िये: क्या आप Sexless Marriage में फसे हुए हैं ?

Recent Posts

शादी का प्रेशर: 5 बातें जो इंडियन पेरेंट्स को अपनी बेटी से नहीं कहना चाहिए

हमारे देश में शादी का प्रेशर ज़रूरत से ज़्यादा और काफी बार बिना मतलब के…

12 hours ago

तापसी पन्नू फेमिनिस्ट फिल्में: जानिए अभिनेत्री की 6 फेमस फेमिनिस्ट फिल्में

अभिनेत्री तापसी पन्नू ने बहुत ही कम समय में इंडियन एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में अपनी अलग…

13 hours ago

क्यों है सिंधु गंगाधरन महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन? जानिए ये 11 कारण

अपने 20 साल के लम्बे करियर में सिंधु गंगाधरन ने सोसाइटी की हर नॉर्म को…

14 hours ago

श्रद्धा कपूर के बारे में 10 बातें

1. श्रद्धा कपूर एक भारतीय एक्ट्रेस और सिंगर हैं। वह सबसे लोकप्रिय और भारत में…

15 hours ago

सुष्मिता सेन कैसे करती हैं आज भी हर महिला को इंस्पायर? जानिए ये 12 कारण

फिर चाहे वो अपने करियर को लेकर लिए गए डिसिशन्स हो या फिर मदरहुड को…

15 hours ago

केरल रेप पीड़िता ने दोषी से शादी की अनुमति के लिए SC का रुख किया

केरल की एक बलात्कार पीड़िता ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख कर पूर्व कैथोलिक…

18 hours ago

This website uses cookies.