मिस झारखण्ड ने कचरे में कैटवॉक किया, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

मिस झारखण्ड ने कचरे में कैटवॉक किया, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह मिस झारखण्ड ने कचरे में कैटवॉक किया, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

SheThePeople Team

01 Sep 2021


मिस झारखण्ड ने कचरे में कैटवॉक किया : मिस झारखण्ड रह चुकी सुरभि इन दिनों सुर्ख़ियों में छायी हुई हैं, इसकी वजह है कचरे में उनका रैम्पवॉक। मशहूर मॉडल और मिस झारखण्ड सुरभि ने पिछले सोमवार को एक डंपिंग यार्ड में कैटवॉक किया। जिसकी वजह से न्यूज़ में उनके चर्चे हो रहें हैं। फेमस मॉडल ने अपने फोटोशूट और कैटवाक के लिए आखिर किसी कचरे के ढेर को क्यों चुना, इसके पीछे भी खास वजह बताई जा रही है। आईये जाने की क्यों मिस झारखण्ड ने कचरे में किया कैटवॉक-

रांची का डंपिंग यार्ड बना सुरभि का कैटवॉक डेस्टिनेशन

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रांची का सारा कचरा यहीं आता है और झिरी में कचरे का पहाड़ बन गया है। एक अनुमान के अनुसार, रांची के इस डंपिंग यार्ड में करीब हर महीने 15300 टन कचरा होता है, इसका मतलब हर साल करीब 1.83 लाख टन कूड़ा जमा हो जाता है। इसी डंपिंग यार्ड को सुरभि ने अपना कैटवॉक डेस्टिनेशन बनाया। सुरभि को कचरे पर वाक करते हुए आस-पास के लोगों की भीड़ इकट्ठी हो गयी और सब हैरानी से सुरभि का कैटवॉक देख रहे थे। 

मिस झारखण्ड ने कचरे में कैटवॉक किया

सुरभि ने बताया कि जैसे देश में के कई डम्पिंग यार्ड में प्रोसेसिंग प्लांट लगे हैं, जो कचरे को साफ़ करते हैं। इस तरह की कोई व्यवस्था झिरी के इस डंपिंग यार्ड में नहीं है, जिसकी वजह से आस-पास के लोग बीमार पड़ने लगे हैं और कूड़े की बदबू की कोई सीमा नहीं होती। सुरभि ने अपने फोटोशूट के समय लाल रंग की ड्रेस पहनी हुई थी। इस फोटोशूट के पीछे उनका उद्देश्य था झारखण्ड में डंपिंग जोन में प्रोसेसिंग प्लांट न होने से क्या हाल हुआ है। लाल ड्रेस से उन्होंने खतरे को दिखया और बताया कि कचरे की सफाई जरुरी है वरना ये हम सब के लिए खतरा बन सकता है। 

क्या है नगर निगम की राय?

बात दें कि रांची नगर निगम पर आरोप है कि पिछले 5 साल से कचरा निरस्त करने कि बात कर रहें है लेकिन अभी तक कोई प्रोसेसिंग या निस्तारण प्लांट नहीं लगा है। जिसकी वजह से झिरी के आस-पास के करीब 10 हज़ार लोगों का रहना दूभर हो गया है। इस आरोप पर नगर निगम के नगर-आयुक्त मुकेश कुमार का कहना है कि कचरे को रीसायकल करने की तैयारी पूरी हो चुकी है और टेंडर भी निकला जा चूका है। उन्होंने पूरा आश्वाशन दिया है कि जल्द ही झिरी में कचरा प्रोसेसिंग प्लांट लगाया जायेगा।





अनुशंसित लेख