प्लेबैक सिंगर पलक मुच्छल एक अस्पताल बनाना शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं, जहाँ गरीबों का इलाज मुफ्त में किया जाएगा। रिपोर्ट्स के अनुसार अपने सोशल मीडिया हैंडल पर ले जाते हुए मुछाल ने घोषणा की, “आपसे शेयर करने के लिए कि अस्पताल बनाने का मेरा सपना एक मज़बूत आकार ले रहा है, जहाँ इलाज उन लोगों को मुफ्त में दिया जाएगा जो मेडिकल केयर का खर्च नहीं उठा सकते। निर्माण कार्य अगले फेज में आगे बढ़ रहा है… आपके आशीर्वाद की आवश्यकता है ”। उनके फैंस ने उनके इस कदम के लिए उनकी सराहना की।

आइये जानते है पलक मुच्छल के बारे में कुछ ज़रूरी लाइफ फैक्ट्स

  1. पलक मुच्छल एक प्लेबैक सिंगर हैं जो मुख्य रूप से बॉलीवुड फिल्मों के लिए गाती हैं। वह दिल से जुड़ी बीमारियों के इलाज के लिए आर्थिक मदद के लिए गरीबी से जूझ रहे बच्चों के लिए फंड्स जुटाने के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने स्टेज शो करकर बचपन से ही इस कॉज़ में योगदान देना शुरू कर दिया। उनकी चैरिटी ऑर्गनाइज़ेशन को ‘पलक मुच्छल हार्ट फाउंडेशन’ के नाम से जाना जाता है। मुच्छल को अब तक  इस काम में  21 साल हो चुके हैं और कथित तौर पर 2000 से ज़्यादा बच्चों को उनके दिल की सर्जरी में मदद की है।
  2. मुच्छल की सामाजिक सेवा को विभिन्न सम्मानों और पुरस्कारों के माध्यम से भारत सरकार और अन्य सार्वजनिक संस्थानों द्वारा मान्यता दी गई है। उन्होंने सामाजिक कार्यों में अपनी उपलब्धियों के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स और लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी स्थान हासिल किया है।
  3. चार साल की उम्र में, मुच्छल युवा गायकों, कल्याणजी-आनंदजी लिटिल स्टार के एक समूह के सदस्य बन गई । 7 साल की उम्र में, उन्होंने एक सप्ताह इंदौ, उनके गृहनगर में गाने गाकर बिठाये ताकि 1999 में कारगिल युद्ध में जान गंवाने वाले भारतीय सैनिकों के परिवारों के लिए वो पैसे जूता सकें। उसी वर्ष, उन्होंने 1999 के ओडिशा साइक्लोन के पीड़ितों की मदद करने के लिए अपनी संगीत प्रतिभा का इस्तेमाल किया।
  4. वर्ष 2000 के बाद से, मुच्छल ने अपने चैरिटी शो के लिए भारत और विदेशों में हिंदी में दिल से दिल तक और अंग्रेजी में ‘सेव लिटिल हार्ट्स’ नाम से यात्रा की। औसतन, वह प्रत्येक शो में लगभग 40 गाने गाती है जो लोकप्रिय बॉलीवुड गीतों से लेकर ग़ज़ल और भजन तक हैं।
  5. पलक 17 भाषाओं में गाना गा सकती हैं। इनमें हिंदी, संस्कृत, ओडिया, असमिया, राजस्थानी, बंगाली, मलयालम, पंजाबी, मराठी आदि शामिल हैं।
  6. COVID-19 महामारी के बीच, गायक ने वेंटिलेटर, आईसीयू बेड, रेमेडिसविर आदि जैसे आवश्यक रिसोर्सेज प्रदान करके पीड़ितों की मदद करने में मदद की है। हाल ही में एक ट्वीट में, एक यूज़र ने गायक से एक वेंटिलेटर की व्यवस्था करने का अनुरोध किया। अहमदाबाद, गुजरात में एक मरीज के लिए। जल्द ही, उन्होंने उसे अपनी फाउंडेशन को सभी डिटेल्स मेल करने के लिए कहा। इसी तरह, जब एक्टर  स्वस्तिका मुखर्जी ने सिंगर अरिजीत सिंह की मां के लिए ए नेगेटिव ब्लड की इमरजेंसी आवश्यकता के लिए ट्वीट किया, तो मुच्छल ने कहा, “यह अर्रेंज किया जा रहा है”। चाहू मैं या ना सिंगर ने भी कम ऑक्सीजन सचुरेशन और लंग इन्फेक्शन से पॉजिटिव पेशेंट के लिए एक आईसीयू बीएड की व्यवस्था करने की पेशकश की। उन्हें अंततः सूचित किया गया कि मरीज बेहतर स्थिति में है।
Email us at connect@shethepeople.tv