चीट करने के पीछे आपका जो भी रीज़न रहा हो, आपने ऐसा जानबूझ कर किया हो या अंजाने में, आपके रिलेशनशिप पर इसका गहरा प्रभाव पड़ना तो तय है। कई बार एक इंसान के चीट करने पर रिलेशनशिप टूट जाता है और कई बार लोग अपने साथी को दूसरा मौका देते हैं। यदि आप अपने साथी से माफ़ी की उम्मीद करते हैं और आपसी समस्याओं का हल निकालना चाहते हैं तो अपनी कुछ आदतों में बदलाव लाना होगा। आपको पहले से बेहतर इंसान बनकर दिखाना होगा और अपने साथी का भरोसा दोबारा जीतना होगा।(partner par cheat karna)

जानिए चीट करने के बाद रिलेशनशिप को कैसे रिपेयर किया जा सकता है –

1. उस व्यक्ति को अवॉइड करें जिससे आपका अफ़ेयर था

अगर आप अपने प्रेसेंट रिलेशनशिप को सच में बचाना चाहते हैं तो आपको उस व्यक्ति से काॅन्टैक्ट खत्म करना होगा जिसके साथ आपका अफेयर था क्योंकि उनके टच में रहने का यही मतलब होगा कि आप अब भी उनसे इमोशनल अटैचमेंट रखते हैं। आप पहले ही अपने साथी का भरोसा खो चुके हैं, ऐसे में उस व्यक्ति से सम्बन्ध रखना और भी घातक साबित होगा और आप कभी भी अपना रिलेशनशिप रिपेयर नहीं कर सकेंगे।

2. अपनी गलती एक्सेप्ट करिये

यदि आपने चीट किया है तो अपनी गलती को स्वीकार कीजिए, एक्सक्यूज़ेस मत दीजिए और किसी भी सूरत में इसका ब्लेम पार्टनर के सर पर मत डालिए। जब तक आप अपनी गलती एक्सेप्ट नहीं करेंगे, अपने रिश्ते पर वर्क कर पाना संभव नहीं है। किसी भी गलती को सुधारने का पहला कदम होता है पछतावा। आपके साथी आपको माफ़ तब कर पाएँगे जब आप उनसे माफ़ी माँगेंगे। partner par cheat karna

3. इसके बारे में लगातार बात मत करिये

हो सकता है कि आपके पार्टनर को इस बात की जिज्ञासा लगी रहे कि आपने उन्हें क्यों चीट किया, हो सकता है वो बार-बार इस मुद्दे को उठायें लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप अपने अफेयर की डिटेल्स शेयर ना करें। इस विषय पर बार-बार चर्चा करने से आपके पार्टनर का दिल और दुखेगा और आपका रिश्ता फ़िर से बिल्ड नहीं हो सकेगा। आप इस मुद्दे को अवॉइड करके कुछ अलग और मज़ेदार चीज़ों पर बात करें, पार्टनर से उनकी ज़िंदगी के बारे में पूछें। कुछ क्रिएटिव कीजिए, जिससे आप दोनों का ध्यान डिस्ट्रैक्ट हो सके क्योंकि गड़े मुर्दे उखाड़ने से आपका भला नहीं हो सकता।

4. पार्टनर को स्पेस दीजिए

अगर आपने अपने पार्टनर को चीट किया है तो उन्हें थोड़ा वक़्त और स्पेस दीजिए। यदि वो कुछ दिन आपसे दूर रहना चाहते हैं तो धैर्य रखिये और उनकी बात मानिये। ख़ुद को उनकी जगह पर रख कर देखिये, शायद तब आप उनकी स्थिति को समझ सकेंगे। सब कुछ ठीक कर देने की जल्दी मत कीजिए, पहले उन्हें अपने दुख से उभर जाने दीजिए।

5. काउंसिलर की मदद लीजिये

यदि आपको लगता है कि आप इस सिचुएशन से अकेले डील नहीं कर पा रहे हैं तो प्रोफेशनल हेल्प लीजिये। काउंसिलर आपको इस समस्या के जड़ तक ले जाएगा/जाएगी और बेहतर सोल्यूशन दे सकेगा/सकेगी। karna

Email us at connect@shethepeople.tv