प्रेगनेंसी के दौरान इन 6 बीमारियों से बचने के लिए पेंट और डिस्टेंपर से रहें दूर

Published by
Nayan yerne

प्रेग्नेंसी जहां महिलाओं के लिए जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी लेकर आती है, वहीं यह उनके लिए सबसे चुनौती वाला समय भी लेकर आती है। गर्भावस्था के दौरान गर्भवती को अपनी लाइफस्टाइल में काफी बदलाव व कई तरह की सावधानियां बरतनी पड़ती हैं, ताकि वह और पेट में पल रहा शिशु दोनों ही स्वस्थ रह सकें। यह सावधानी न सिर्फ आहार व  व्यायायाम को लेकर बरतनी होती है, बल्कि उन्हें अपने आसपास के माहौल व वातावरण का भी पूरा ध्यान रखना पड़ता है। प्रेगनेंसी में पेंट से दूरी के कारण

दरअसल वातावरण व आसपास के माहौल में कई ऐसी चीजें होती हैं, जो गर्भवती को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इन्हीं में शामिल हैं पेंट व डिस्टेंपर। दरअसल त्योहार के दौरान घर में पेंट व डिस्टेंपर कराया जाता है, लेकिन घर में अगर कोई गर्भवती हो तो सावधानी बरतने की जरूरत होती है। दरअसल इनसे गर्भवती व शिशु को नुकसान पहुंच सकता है।

क्या प्रेगनेंसी के दौरान घर में पेंट करवाना सेफ है? (pregnancy me paint se duri ke karan)

गर्भावस्था के दौरान पेंट व डिस्टेंपर में मौजूद केमिकल व अन्य चीजें गर्भवती के साथ-साथ पेट में पलने वाले बच्चे के लिए भी हानिकारक होती हैं। इससे दोनों का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। आइए जानते हैं, इससे होने वाले नुकसान के बारे में व क्यों गर्भवती को इससे दूर रहना चाहिए।

सिरदर्द व उल्टी

प्रेग्नेंसी में महिला का शरीर किसी भी प्रकार के गंध के प्रति ज्यादा संवेदनशील हो जाता है। ऐसे में अगर घर में नया पेंट व डिस्टेंपर हुआ हो तो उसे सिरदर्द व उल्टी जैसी समस्या हो सकती है। इससे पेट के अंदर शिशु का स्वास्थ्य भी प्रभावित होने का डर रहता है।

सांस से जुड़ी दिक्कतें

पेंट व डिस्टेंपर से गर्भवती महिलाओं को सबसे ज्यादा दिक्कत सांस से जुड़ी होती है। इसका प्रभाव गर्भ में बच्चे पर भी पड़ सकता है। इसके अलावा महिला की त्वचा भी कई बार पेंट के संपर्क में आने से खराब हो जाती है।

गर्भपात होने की संभावना

अगर गर्भवती महिला ज्यादा समय पेंट या डिस्टेंपर के संपर्क में रहे तो सांस के माध्यम से सोलवेंट (पेट्रोलियम आधारित केमिकल) नाम का केमिकल शरीर में जा सकता है। इस सोलवेंट की वजह से गर्भपात का खतरा भी रहता है। यही नहीं इससे शिशु के हेल्थ पर भी असर पड़ता है।

पेंट में मौजूद हानिकारक केमिकल

पेंट और डिस्टेंपर में सॉलवेंट (पेट्रोलियम आधारित केमिकल) नाम का केमिकल होता है, जो सांस के साथ बॉजी में जाता है। यह गर्भवती व पेट में पल रहे बच्चों के लिए नुकनसानदायक होता है। इससे गर्भपात का खतरा भी रहता है। इसके अलावा बच्चे की तार्किक क्षमता कमजोर होने की भी आशंका रहती है।

पुराने पेंट में लेड

नया पेंट कराने के लिए पुराने पेंट को खुरचा जाता है। पर आपके लिए यह जानना जरूरी है कि इस दौरान भी गर्भवती महिला को इस वातावरण से दूर रहना चाहिए। दरअसल पुराने पेंट में लेड हो सकता है, जो मां व शिशु दोनों के लिए ही खतरनाक हो सकता है।

समय से पहले प्रसव

पेंट और डिस्टेंपर के संपर्क में आने व इससे होने वाले असर से समय से पहले प्रसव की आशंका भी बनी रहती है। प्रेगनेंसी में पेंट से दूरी के कारण

Recent Posts

How To Save During Sales: सेल्स के दौरान अधिक खर्च करने से कैसे बचे?

अच्छे डिस्काउंट पर वस्तु को देखकर हर चीज़ को खरीदने का मन करता है पर…

47 mins ago

Lata Mangeshkar Health Improves: लता मंगेशकर की सेहत में हुआ सुधार, डॉक्टर ने अस्पताल में रहने की सलाह दी

इसके अलावा डॉक्टर का कहना है कि भले ही लता मंगेशकर की सेहत में अब…

1 hour ago

Mouni Roy Marriage Post: मौनी रॉय की शादी के बाद पहली पोस्ट “आखिर मैंने उसे ढूंढ ही लिया”

नागिन की एक्ट्रेस मौनी रॉय शादी कर चुकी हैं और इन्होंने शादी के बाद पोस्ट…

2 hours ago

Actress Mouni Roy Journey: कैसी रही मौनी रॉय की मिसेज सूरज नम्बिआर बनने से पहले की जर्नी?

2015 में एकता कपूर के सुपरनैचरल सीरीज़ "नागिन" से मौनी को खूब प्यार और नाम…

4 hours ago

Actor Samantha Pregnancy Note: सामंथा अक्किनेनी ने प्रेगनेंसी और दर्द को लेकर बात की, महिलाओं को कहा ताकतवर

इन्होंने कहा कि यह बहुत अजीब बात है कि जब एक महिला बच्चा पैदा नहीं…

5 hours ago

This website uses cookies.