प्रेग्नेंट महिलाओं को कई तरह की समस्‍याओं और बदलावों से गुजरना पड़ता है |जिनकी वजह से उन्‍हें दर्द और क्रैम्प होता है | अगर आप पहली बार मां बन रही हैं तो अचानक क्रैम्प उठना आपके लिए चिंता की बात हो सकती है |लेकिन इसे लेकर आपको ज्‍यादा घबराने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि ये प्रेगनेंसी का एक हिस्‍सा है।  प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में हो रहे कई बदलावों की वजह से आपको प्रेगनेंसी में क्रैम्प महसूस हो सकते हैं.

आइए जानते हैं कि प्रेगनेंसी में क्रैम्प और दर्द से किस तरह निपट सकते है ?

1.पेट में क्रैम्प होने पर प्लेन जमीन पर लेट जाएं। दर्द से राहत पाने के लिए अफेक्टेड हिस्‍से पर हल्‍की गर्म सिकाई भी कर सकती हैं।

2.कई बार डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी की वजह से भी ऐंठन (क्रैम्प)शुरू हो जाती है। ऐसे में खूब पानी और लिक्विड पिएं।

3.अपच के कारण ऐंठन (क्रैम्प)हो रही है |तो नुट्रिशयस आहार लेना शुरू करें। प्रेगनेंसी में कॉन्स्टिपेशन रहती है जिसकी वजह से आपको ऐंठन हो सकती है। इससे बचने के लिए खूब पानी पिएं, फाइबर युक्‍त डाइट लें और एक्सरसाइज भी करें।

4.यदि आपको एक्‍सरसाइज करते समय दर्द महसूस हो रहा है| तो एक्‍सरसाइज ना करें। प्रेगनेंट महिलाओं को हफ्ते में तीन बार 20 से 30 मिनट तक हल्‍की एक्‍सरसाइज करनी चाहिए। ज्‍यादा हैवी एक्‍सरसाइज ना करें।

5.ऐंठन  ( क्रैम्प ) से बचने के लिए अपने बैठने और खड़े होने के पोस्‍चर का भी ध्‍यान रखें।  मसल्स को आराम देने और ऐंठन से बचने के लिए नियमित स्‍ट्रेचिंग एक्‍सरसाइज करें।

6.ज्‍यादा थकान वाला कोई काम न करें क्‍योंकि इससे  मसल्स में ऐंठन ( क्रैम्प ) शुरू हो सकती है। भरपूर नींद लें और शरीर को आराम दें। सोते समय दोनों पैरों के बीच में एक मुलायम तकिया रखें। इससे ऐंठन ( क्रैम्प )और दर्द कम होगा।

7.दर्द से राहत पाने के लिए आप गर्म पानी से नहाने का नुस्‍खा भी आजमा सकती हैं। प्रेगनेंसी में मालिश करवाना भी बहुत फायदेमंद होता है। एक ही पोजीशन में ज्‍यादा देर तक ना बैठें।

8.कुछ मिनरल सब्सटांस की कमी की वजह से प्रेगनेंट महिलाओं को ऐंठन हो सकती है। ऐसे में डॉक्‍टर से बात करें प्रीनैटल विटामिन लें।

Email us at connect@shethepeople.tv