Sustainability: प्रियंका चोपड़ा ने बताया सस्टेनेबल फैशन को "कूल"

Swati Bundela
26 Jun 2021
Sustainability: प्रियंका चोपड़ा ने बताया सस्टेनेबल फैशन को "कूल"

हाल ही में प्रियंका चोपड़ा ने सस्टेनेबल फैशन की खूबसूरती और सिग्नीफिकेन्स के बारे में बात की है। इस बातचीत में उन्होंने ये भी बताया की कैसे सस्टेनेबल फैशन के थ्रू सब कुछ रिपीट करना कितना "कूल" है। इन्सिटिटयूट ऑफ़ फैशन के द्वारा आयोजित पॉजिटिव फैशन फोरम में अमेरिकन स्टाइलिस्ट लॉ रोच के साथ बातचीत के दौरान सस्टेनेबिलिटी और पॉजिटिव फैशन के बारे में बहुत सारी बातें बताई।

क्या बताया प्रियंका ने ?


प्रियंका चोपड़ा जो हाल ही में फेमस अमेरिकन लॉन्ज़री ब्रांड "विक्टोरिया सीक्रेट" की ब्रांड अम्बस्सडोर चुनी गई हैं ने इस फोरम के थ्रू अपने सस्टेनेबिलिटी गोल्स शेयर किए। उन्होंने ये भी बतया की सस्टेनेबिलिटी एक एक्सक्विसाईट फीलिंग है क्योंकि ना सिर्फ आप एक कपड़े से रूबरू होते हैं बल्कि आप उसकी पूरी हिस्ट्री को जनाने और समझने लगते हैं।

लॉ रोच ने बताया कपड़ों को नई ज़िन्दगी देने के बारे में


इस बातचीत में अमेरिकन स्टाइलिस्ट लॉ रोच ने बताया की सस्टेनेबल प्रैक्टिसेज के थ्रू कपड़ों को नई "लाइफ" मिलती है। उनके हिसाब से सस्टेनेबिलिटी का सेण्टर है "विंटेज फैशन"। उन्होंने ये भी बताया की जब किसी कपड़े का जन्म होता है तो उसकी पूरी ज़िन्दगी भी खुशनुमा होनी चाहिए। उनके हिसाब से जब आप कोई कपडा खरीदते हैं तो फिर आपको उसकी लाइफ को एक्सपैंड करने का हर भरसक प्रयास करना चाहिए। सस्टेनेबिलिटी मूवमेंट में पार्टिसिपेट करने का सबसे आसान तरीका यही है की आप यूज़्ड कपड़ों को फिर से पहनों।

टेक्सटाइल वास्ते के बारे में भी की बात


प्रियंका ने अपनी बातचीत के दौरान लोगों को फैशन रिपीट करने के लिए बढ़ावा दिया। उन्होंने ये भी बतया की जब हम कपड़ो को रिपीट करते हैं तो हम बहुत सारा टेक्सटाइल वास्ते होने से बचा लेते हैं। ना सिर्फ ये बल्कि कपड़ों को बनाने में यूज़ हो रहे नेचुरल रिसोर्सेज को बचाना भी बहुत ज़रूरी है।

सोशल मीडिया पर बातचीत की शेयर


प्रियंका चोपड़ा ने अपनी इस बातचीत के कुछ अंश अपने इंस्टाग्राम स्टोरी पर भी शेयर किए हैं। "लक्ज़री लॉ" को टैग करते हुए उन्होंने लिखा की उन्हें उनके साथ बैठ कर सस्टेनेबल फैशन के बारे में बात करने में बहुत आनंद मिला। इस प्लेटफार्म की मदद से उन्होंने ये उम्मीद भी जताई की आगे लोगों में पॉजिटिव चेंज देखने को मिलेगा।

अनुशंसित लेख