Heavy Periods: हैवी पीरियड्स के कारण और इलाज 

Heavy Periods: हैवी पीरियड्स के कारण और इलाज  Heavy Periods: हैवी पीरियड्स के कारण और इलाज 

SheThePeople Team

24 Sep 2021


हैवी पीरियड्स के कारण और इलाज - पीरियड्स के दौरान जब एक महिला को लगातार बहुत ज्यादा खून आता है, तो उसे हैवी पीरियड्स या मिनोरेजिया (Menorrhagia) कहते हैं। पीरियड्स में कई महिलाओं को हैवी ब्लीडिंग की समस्या का सामना करना पड़ता है। हैवी ब्लीडिंग में लगातार ब्लड लॉस और क्रैंप्स के कारण महिलाएं अपनी सामान्य गतिविधियां नहीं कर पाती हैं।

हैवी पीरियड्स के कई संकेत और लक्षण हैं जैसे की एक हफ्ते से ज्यादा ब्लीडिंग होना, हर एक घंटे के बाद पैड को बदलने की जरूरत, बड़े ब्लड क्लॉट का डिस्चार्ज होना और कभी के बार डबल सैनिटरी पैड की जरूरत पड़ना फ्लो को रोकने के लिए। 

क्या हैं हैवी ब्लीडिंग / पीरियड्स के कारण ? 

कुछ मामलों में हैवी ब्लीडिंग के कारण का पता नहीं लग पता लेकिन ये मिनोरेजिया में बदल सकता है। हैवी ब्लीडिंग के कुछ सामान्य कारण हैं: 

1. हार्मोन इंबैलेंस 

अगर हार्मोन इंबैलेंस होता है तो एंडोमेट्रियम(endometrium) अधिक मात्रा में डेवलप हो जाता है और भरी ब्लीडिंग के माध्यम से बहता है। हार्मोन इंबैलेंस कही सारे कारणों की वजह से होता है जैसे की थाइरोइड, मोटापा, PCOS, आदि। 

2. कैंसर

यूटराइन कैंसर (Uterine Cancer) के कारण भी हैवी ब्लीडिंग हो सकती है। यूटराइन कैंसर अमतौर पर मीनोपॉज (Menopause) के बाद में होता है। हैवी ब्लीडिंग मीनोपॉज के बाद यूटराइन कैंसर का एक लक्षण है।

3. डिस्फंक्शन ऑफ ओवरीज 

जब एक महिला की ओवरीज अंडे को नहीं छोड़ता मासिक धर्म चक्र के दौरान उसे आपके पीरियड चक्र में असंतुलन आ जाता है। इसकी वजह से हार्मोन इंबैलेंस होता है और बाद में हैवी ब्लीडिंग की समस्या होती है। 

ये कुछ सबसे आम कारण हैं जिसके कारण महिलाओं में हैवी पीरियड्स की समस्या हो सकती हैं।

क्या हैं हैवी पीरियड्स / ब्लीडिंग का इलाज ? 

कुछ महिलाओं में हैवी पीरियड्स के लिए इलाज की जरूरत नहीं पड़ती क्योंकि थोड़ी बहुत कम ज्यादा ब्लीडिंग होना सामान्य है और उसका कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता। लेकिन अगर ब्लीडिंग हद से ज्यादा हो तो डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए क्योंकि हैवी ब्लीडिंग महिलाओं में एनीमिया(Anemia) का कारण बन सकती है। एनीमिया के कारण शरीर में खून का फ्लो सही नहीं होता जिसकी वजह से शरीर में थकान, चक्कर आना, हाथ पैर ठंडे पड़ना जैसे लक्षण नज़र आ सकते हैं। 

पीरियड्स के दौरान हरी सब्जियां खाना फायदेमंद साबित होता है और विटामिन -C और आयरन का भरपूर मात्रा में सेवन करें। 


अनुशंसित लेख