Red Flag In Relationship: एक रिलेशनशिप में कब आपको रेड फ्लैग उठाने की और बाहर निकलने की जरुरत है

Red Flag In Relationship: एक रिलेशनशिप में कब आपको रेड फ्लैग उठाने की और बाहर निकलने की जरुरत है Red Flag In Relationship: एक रिलेशनशिप में कब आपको रेड फ्लैग उठाने की और बाहर निकलने की जरुरत है

SheThePeople Team

02 Feb 2022


Red Flag In Relationship: कार रेसिंग में जब लाल झंडी दिखाई जाती है तो कार को रोकने का आदेश होता है। "आगे खतरा है" इस बात का संकेत देने के लिए लाल झंडी का इस्तेमाल किया जाता है। आज रिलेशनशिप की बातों में भी रेड फ्लैग शब्द जुड़ रहा है जिसका मतलब आपका रिश्ता स्वस्थ्य रिश्ते की पटरी से हट चुका है और आप गलत व्यक्ति के साथ रिलेशनशिप में है। आईए जानते है ऐसे ही कुछ रेड फ्लैग्स के बारे में जो आपको आपके पार्टनर के टॉक्सिक होने या न होने के बारे में बताएगा।

1. ओवरफ्रेंडली होना

आपके पार्टनर को आपके बारे में जानने की इच्छा रहती है, एक दूसरे को प्रोटेक्ट करना, एक दूसरे का ध्यान रखना तो ठीक है पर साथ में पुराने रिलेशनशिप के बारे में बताने को मज़बूर करना, हर दोस्त, रिश्तेदार की जानकारी हासिल करना व हद से ज़्यादा प्यार दूसरे व्यक्ति पर दबाव की स्थिति पैदा कर सकता है। यह ओवर फ्रेंडली नेचर आपको टॉक्सिक रिलेशनशिप में बांध कर रख देता है।

2. इंसेक्योर होना

जब आपका पार्टनर अपोजिट सेक्स से मिलता जुलता है तो जलन तो होती है पर इस बात को आधार बनाकर आप पर ताने कसना, "दबाव बनाना", "दोस्तों से मिलने से रोकना", केयर के नाम पर "आपकी हर लोकेशन पर नज़र रखना", "आपके बाहर आने-जाने पर रोक-टोक करना", "कपड़ों पर सवाल उठाना" रिश्ते में लाल झंडी है।

3. एब्यूज करना

प्यार में नाराज़गी होती है, लड़ाई होती है पर एब्यूज नहीं। "गुस्से में हाथ उठ गया", " तुम्हारी गलती की वजह से मैंने ऐसा किया" ऐसा कहने से वह अपनी गलती ना मानकर आप पर सारा दोष लगा रहे है जो किसी भी रिलेशनशिप में स्वीकारा नहीं किया जा सकता है। समाज में पति को पत्नी को मारने पीटने का अधिकार देना उसके सम्मान से खिलवाड़ करना है।

4. मैनीपुलेशन करना

आप एक गलत रिलेशनशिप में फंस चुके है इसकी निशानी यह है कि आप अपने पार्टनर के हाथों मैनिपुलेट हो रहे है। बात को सीधी न कहकर घुमाकर, आप पर दोष लगाकर व अपनी बात मनवाकर आप के मुँह से शब्द बुलवाए जा रहे है इस बात का पता ही नहीं चलता और इसे ही मैनीपुलेशन करना कहते है।

5. क्लिंजी होना

रिलेशनशिप में में दो व्यक्तियों में काफ़ी नजदीकियाँ होती है, एक दूसरे की तरफ बढ़ता आकर्षण उनके रिश्ते को और गहरा कर देता है पर "एक दूसरे के साथ 24 घंटे रहना", "पल-पल की खबर रखना", "आप कहा जा रहे है", "क्या कर रहे", "क्या खा रहे है" हर बात की जानकारी रखना शक, ट्रस्ट इशू को दर्शाता है और जहाँ ट्रस्ट नहीं प्यार खत्म होते समय नहीं लगता।


अनुशंसित लेख