फ़ीचर्ड

Relationship and Sex Education : रिलेशनशिप में सेक्स एजुकेशन क्यों ज़रूरी है?

Published by
Yasmin Ansari

सेक्स एजुकेशन और रिलेशनशिप : सेक्स एजुकेशन की कमी रोमांटिक रिश्तों में समस्या का कारण बनती है। दरअसल हमारे देश में सेक्स के बारे में बात करने के साथ शर्म और पाप जैसे शब्द जुड़े होते हैं। इस वजह से इस पर कहीं भी बात नही किया जाता ना तो स्कूल में और ना घर में। आइये जानते हैं सेक्स एजुकेशन की कमी से रिश्ते में होने वाली परेशानियों के बारे में ।

सेक्स एजुकेशन और रिलेशनशिप : जानिए सेक्स एजुकेशन की कमी से रिश्तों में आने वाली समस्याएं

1. सहमति यानि कंसेंट की समझ

सेक्स एजुकेशन लड़कों और लड़कियों को सेक्स से पहले अपने पार्टनर से बातचीत करने, उनकी पसंद-नापसंद जानना सिखाता है। अक्सर पुरुषों द्वारा महिला पार्टनर की सहमति के बिना, उससे जबरदस्ती इंटरकोर्स के मामले में सामने आते हैं। सिर्फ यही नहीं, जब सेक्स एजुकेशन सही ढंग से नहीं मिलता तब सोसायटी में भी पुरुष महिलाओं की सहमति और कंसेंट को नहीं समझते। इस वजह से हिंसा, असॉल्ट जैसे मामले सामने आते हैं।

2. सेक्स में पवित्रता और अपवित्रता तलाशना

सेक्स एक बेहद नेचुरल प्रोसेस है जिसमें कुछ भी पवित्र-अपवित्र नहीं होता। सेक्स के दौरान दोनों पार्टनर्स की सहमति से जो भी किया जाए, वो उस एक्ट का हिस्सा ही होता है। लेकिन अपने शरीर और सेक्स की सही जानकारी ना होने के कारण लोग अक्सर शादी से पहले सेक्स, होमोसेक्शुएलिटी आदि को अपवित्र और अप्राकृतिक मानने लगते हैं। जबकि ऐसे सेक्स से ज्यादा प्राकृतिक शायद ही कुछ हो जो दो लोगों द्वारा आपसी सहमति से हो।

3. सेक्शुअल प्लेज़र की जानकारी ना होना

सेक्स एजुकेशन के दौरान हमें अपने शरीर, सेक्शुअल पॉइंट्स, सेक्स के दौरान पसंद-नापसंद पता चलती हैं। लेकिन जब आपको आपके शरीर का ही ज्ञान नहीं है, आप उसके लिए प्लेजर कैसे तलाशेंगे? इसी तरह अपने पार्टनर के शरीर और फैंटसीज की जानकारी ना होना सेक्स के प्रोसेस को दर्दनाक और स्ट्रेसफुल बना सकता है।

4. सेक्स से जुड़ी समस्याओं को समझ ना पाना

सेक्स के दौरान आदमियों और औरतों को कई तरह के इशूज आ सकते हैं। इनमें वैजाइना का सूखापन और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन बेहद आम हैं। लेकिन सेक्स एजुकेशन की कमी से व्यक्ति इन्हें बड़ी बीमारी समझ लेता है और डॉक्टर के पास जाने की बजाय इस समस्या से खुद ही घुट-घुटकर जूझता रहता है।

5. सेक्स से जुड़ी तरह-तरह की गिल्ट

हमारे समाज में सेक्स का नाम आज भी टैबू है। इसके साथ शर्म तो हर वक्त जुड़ा रहता है। ऐसे में इससे आने वाली गिल्ट भी कॉमन है। अपने पार्टनर से अधिक सेक्स की इच्छा रखने की गिल्ट, एक से अधिक पार्टनर्स होने की गिल्ट, वाइल्ड फैंटसी होने की गिल्ट, मास्टरबेशन की गिल्ट! इन गिल्ट के चलते सेक्स परफॉरमेंस घट जाती है और फिर आती है परफॉरमेंस कम हो जाने की गिल्ट। इन सबसे निपटने के लिए सेक्स का सही नॉलेज बहुत जरूरी है।

तो सेक्स एजुकेशन की कमी के कारण आपको इन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। बेहतर होगा कि शर्म को छोड़ आप सेक्स एजुकेशन लें जिससे आपकी सेक्स लाइफ, आप और आपका पार्टनर दोनों ही हेल्दी रहें।

Recent Posts

Deepika Padokone On Gehraiyaan Film: दीपिका पादुकोण ने कहा इंडिया ने गहराइयाँ जैसी फिल्म नहीं देखी है

दीपिका पादुकोण की फिल्में हमेशा ही हिट होती हैं , यह एक बार फिर एक…

4 days ago

Singer Shan Mother Passes Away: सिंगर शान की माँ सोनाली मुखर्जी का हुआ निधन

इससे पहले शान ने एक इंटरव्यू के दौरान जिक्र किया था कि इनकी माँ ने…

4 days ago

Muslim Women Targeted: बुल्ली बाई के बाद क्लबहाउस पर किया मुस्लिम महिलाओं को टारगेट, क्या मुस्लिम महिलाओं सुरक्षित नहीं?

दिल्ली महिला कमीशन की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने इसको लेकर विस्तार से छान बीन करने…

4 days ago

This website uses cookies.