सेक्स  लगभग हर किसी के जीवन का एक ज़रूरी हिस्सा है चाहे वह इंटिमेसी, रिप्रोडक्शन या प्लेजर के बारे में हो। यह हमारे जीवन के भावनात्मक, शारीरिक, सामाजिक और मनोवैज्ञानिक पहलुओं को सीधे इफ़ेक्ट करता है। इसलिए, सेक्सुअल इंटरकोर्स के दौरान दोनों को सेक्स के लिए बराबर भागीदार होना चाहिए क्योंकि सेक्स के कई फायदे हैं।

image

हम सभी अक्सर सेक्स करने के फिजिकल फायदों के बारे में बात करते हैं; कैलोरी-बर्न, लौ-ब्लड प्रेशर, इम्मयूनिटी बूस्ट और भी कई बाते । हालाँकि, अगर एक सही माइंड-फ्रेम और / या एक विश्वसनीय पार्टनर के साथ सेक्स किया जाता है, तो रेगुलरली सेक्स करने से हमारी मेन्टल हेल्थ पर भी पॉजिटिव इफ़ेक्ट पड़ सकता है!

यहाँ नियमित रूप से सेक्स करने के 5 मेंता हेल्थ बेनिफिट्स दिए गए हैं:

अल्टीमेट स्ट्रेस-रिलीवर

आज के कॉम्पिटिटिव और तेजी से भागते लाइफ-स्टाइल में, लोगों के लिए स्ट्रेस भी हमारे जीवन का हिस्सा बन चूका है। इसकी गंभीरता और इसके इफ़ेक्ट हर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग होते हैं, फिर भी स्ट्रेस का सभी पर गंभीर प्रभाव पड़ता है।

रिसर्च से पता चलता है कि सेक्सुअल एक्टिविटी डोपामाइन, एंडोर्फिन और ऑक्सीटोसिन जैसे कई फील-गुड ’हार्मोनों के रिलीज़ को ट्रिगर करती है, जो स्ट्रेस -बस्टर के रूप में काम करते हैं। वास्तव में, शरीर सेक्स के बाद हार्मोन प्रोलैक्टिन जारी करता है। यह हार्मोन अक्सर  रिलैक्स की भावना की ओर जाता है, जिसके बाद ज्यादातर अच्छी नींद आती है।

आप अपने साथी के करीब होते  है

रेग्युलर सेक्स आपके पार्टनर के साथ इंटिमेसी और इमोशनल रिलेशन को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। बेशक, यह केवल आपके रिश्ते को बनाए रखने के लिए नहीं है, इसलिए अपने आप को केवल अपने साथी की खातिर सेक्स करने के लिए मजबूर न करें। सेक्स हमेशा दोनों पार्टनर्स की सहमति और खुशी के बारे में होता है।

फिर भी, साइंटिफिक रिसर्च हमें बताते हैं कि ऑक्सीटोसिन, जिसे लव हार्मोन के रूप में भी जाना जाता है, स्ट्रेसस को कम करता है और पार्टनर्स के बीच प्यार और विश्वास की भावनाओं को बढ़ाता है। वास्तव में, एक रिसर्च में पाया गया कि जो जोड़े छह महीने से अधिक साथ थे और सेक्सुअल रूप से एक्टिव थे, उन लोगों की तुलना में ऑक्सीटोसिन का बेस लेवल ज़्यादा था बजाये उनके जो उस समय ब्रेक-अप का सामना कर रहे थे।

इसके अलावा, ऑर्गेज्म के बाद रिलीज होने वाला ऑक्सीटोसिन आपको उस पल के करीब होने का एहसास कराता है।

माइंड को एक्टिव रखता है

सेक्स करने से आपके दिमाग में कई तरह की केमिकल एक्टिविटीज होती हैं। इस तरह की एक चेमिक्ल एक्टिविटी ब्रेन पावर को बढ़ा रही है, इसलिए यह आपकी कॉग्निटिव कैपेसिटी को बढ़ाती है।

किए गए एक रिसर्च से पता चला है कि महिलाओं में सेक्सुअल क्लाइमेक्स ब्रेन के हर हिस्से को एक्टिव करता है। इससे ब्रेन की नेर्वेस तक हेअल्थी नुट्रिएंट्स और ऑक्सीजन को ले जाने के दौरान ब्लड फ्लो प्रॉपर होता है। वास्तव में, इसके कारण सुडोकू, क्रॉसवर्ड या मेमोरी गेम खेलने जैसी लोकप्रिय ब्रेन एक्टिविटीज की तुलना में इफेक्टिवनेस के मामले में ज़्यादा स्कोर किया।

बॉडी इम्पैक्ट्स माइंड

सेक्स कई हेल्थ बेनिफिट्स की ओर ले जाता है क्योंकि यह एक तरह की एक्ससेरसाइज है जो बर्नआउट का काम भी करती है।

कुछ आंकड़ों के अनुसार, औसतन, पुरुषों में लगभग 100 कैलोरी और महिलाओं में केवल ७०कलोरिएस बर्नआउट होती  हैं। आधे घंटे के सेक्स में, 200 कैलोरी लेस्स हो सकती हैं। हालाँकि, सेक्स की औसत अवधि काफी कम होती है।

फिर भी, शरीर और मन पर इस तरह के पॉजिटिव इफ़ेक्ट के साथ, कोई भी व्यक्ति अच्छे मूड और मन की स्थिति में होगा। एक अच्छा दिमाग एक अच्छे शरीर में रहता है। इसलिए, जब हम स्वस्थ होते हैं, तो हम बेहतर मूड में होते हैं।

फील गुड बूस्टर

रेग्युलर सेक्स आपको अपने बारे में अच्छा महसूस करा सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह आपके सेक्सुअल कॉन्फिडेंस को बढ़ाता है, जिसका न केवल शरीर की छवि पर पॉजिटिव इफ़ेक्ट पड़ता है, बल्कि यह भी कि आप अपने बारे में कैसा महसूस करते हैं।

एक स्नैपशॉट जो सेक्स के लाभों को देखता है

  • यह आपके ब्लड प्रेशर को कम करता है।
  • यह आपके इम्म्यून सिस्टम को स्ट्रांग करता है।
  • यह कहा गया है कि रेगुलर और स्वस्थ सेक्स लाइफ दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। कुछ लोग यह भी कहते हैं कि इससे हार्ट डिजीज का खतरा कम हो सकता है।
  •  हार्मोन के कारण डिप्रेशन और स्ट्रेस की कम संभावना है।
  • साउंड स्लीप और एक आरामदायक नींद।
  • अपने बारे में अपने कॉन्फिडेंस को मज़बूत करने में मदद करें।
Email us at connect@shethepeople.tv