Avani Lekhara Story: पैरालंपिक में गोल्ड जीतने वाली निशानेबाज ने कोच से उधार ली थी राइफल

Avani Lekhara Story: पैरालंपिक में गोल्ड जीतने वाली निशानेबाज ने कोच से उधार ली थी राइफल Avani Lekhara Story: पैरालंपिक में गोल्ड जीतने वाली निशानेबाज ने कोच से उधार ली थी राइफल

SheThePeople Team

30 Aug 2021


Avani Lekhara Story: सोमवार, 30 अगस्त को टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics 2020) में निशानेबाजी में अवनि लेखारा ने जीता गोल्ड मैडल। 19 वर्षीय निशानेबाज ने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग (SH1) स्पर्धा में कुल 249.6 अंकों के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर के भारत के लिए गोल्ड हासिल किया। व्हीलचेयर पर बैठकर लेखारा ने निशानेबाज़ी में भारत का पहला गोल्ड मैडल जीतकर इतिहास रच दिया है।

अवनि लेखारा की जीत के बाद से ही भारत में जश्न का माहौल है। पूरे सोशल मीडिया पर लेखारा छाई हुई है। उन्होंने अपनी जीत पर कहा “मै ये फीलिंग बया नहीं कर सकती, मुझे ऐसा लग रहा है मै सातवें आसमान पर हूँ।" उन्होंने आगे कहा कि "ये बिल्कुल सपने जैसा है।”

Avani Lekhara Story: पैरालंपिक में गोल्ड जीतने वाली निशानेबाज ने कोच से उधार ली थी राइफल


2012 में एक कार दुर्घटना का किया था सामना

अवनि लेखारा ने 2012 में एक कार दुर्घटना का सामना किया था ,जिसमे उन्हें रीढ़ की हड्डी पर गंभीर चोट लगी थी। इस हादसे के बाद से लेखारा, 11 वर्ष की आयु से व्हीलचेयर पर है।

मुश्किलों के बाद भी तय किया पैरालिंपिक खेलों तक का सफर

इतने बड़े सड़क हादसे के बाद भी लेखारा ने हार नहीं मानी और निशानेबाजी सीखी। उन्होंने इस साल टोक्यो पैरालिंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई किया और आज गोल्ड मेडलिस्ट भी बन गई। आपको बता दे कि वर्तमान में वह वर्ल्ड शूटिंग पैरा स्पोर्ट्स रैंकिंग के मुताबिक़, महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में SH1 में विश्व में 5 वें स्थान पर है।

उनके जीवन में कब आया बड़ा बदलाव ?

गोल्ड मैडल विजेता अभिनव बिंद्रा की आत्मकथा, ए शॉट एट हिस्ट्री पढ़ने के बाद लेखारा के जीवन में एक बड़ा बदलाव आया। अभिनव बिंद्रा की जीवन कहानी पढ़ के उन्हें शूटिंग की ट्रेनिंग लेने की प्रेरणा मिली। 2015 में उन्होंने राजस्थान राज्य चैंपियनशिप में अपना पहला ब्रॉन्ज़ मैडल हासिल किया।

कोच से उधार ली गई राइफल से जीता पहला मैडल

अवनि लेखारा ने 2015 में शूटिंग शुरू की थी। लेखारा ने अपने कोच से उधार ली गई राइफल का से अपना पहला राज्य मैडल जीता और 2015 और 2016 में राष्ट्रीय निशानेबाजी चैम्पियनशिप में लगातार गोल्ड मैडल जीते। इसके बाद उन्होंने 2017 में दुबई में हुए आईपीसी पैरा शूटिंग वर्ल्ड कप में सिल्वर मेडल जीता था।

अवनि लेखारा ने बनाये कई वर्ल्ड रिकॉर्ड

कई नेशनल मेडल्स जीतने के अलावा, उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी प्रसिद्धि हासिल की है। उन्होंने 2019 WSPS चैंपियनशिप, ऑस्ट्रेलिया में 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन SH1 फाइनल में जूनियर विश्व रिकॉर्ड तोड़ा है। हाल ही में, निशानेबाज लेखारा ने 2019 में ओसिजेक वर्ल्ड शूटिंग पैरा स्पोर्ट, क्रोएशिया में 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 में सिल्वर मैडल जीता है।

ये भी पढ़िए: अवनि लेखारा ने जीता गोल्ड: टोक्यो पैरालंपिक में निशानेबाजी में भारत को दिलाया पहला गोल्ड


अनुशंसित लेख