एसटीडी (STD) या एसटीआई (STI) ना होने का सबसे प्रभावी तरीका है सेक्स नहीं करना। परंतु सेक्स करने के कई हेल्थ बेनिफिट्स होते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि हम सेक्स करते वक्त कांट्रेसेप्शन का प्रयोग करें, जैसे कॉन्डम, कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स आदि।

सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन के क्या कारण हो सकते हैं? एसटीआई (STI) टेस्ट 

यह इंफेक्शन वायरस, बैक्टीरिया, और पैरासाइट किसी से भी हो सकता है। आम तौर पर लोगों को गोनोरिया, सिफलिस, क्लैमिडिया, ह्यूमन पैपिलोमा वायरस, हेपेटाइटिस बी, एचआईवी होते हैं।

एसटीआई होने के क्या-क्या सिम्टम्स हो सकते हैं?

इसके सिम्टम्स कई तरह के हो सकते हैं। आपको मामूली सा वजाइनल डिस्चार्ज या फिर बहुत अधिक मात्रा में वजाइनल डिस्चार्ज भी हो सकता है। आपको एक छोटा पिंपल या एक बड़ा अल्सर भी हो सकता है। उस जगह में थोड़ा दर्द या उससे भी अधिक दर्द हो सकता है। अक्सर हमें सिम्टम्स देर से नजर आते हैं, और तब तक तो वे हमारे शरीर में फेल चुका होता है। बेहतर है कि हम जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी इसका ट्रीटमेंट कराएं। एसटीआई (STI) टेस्ट 

आप स्वयं का एसडीआई टेस्ट बार-बार करवाते रहें और वैक्सीन भी लगवाए। कुछ वैक्सीन जैसे एचपीवी और हेपेटाइटिस बी से अपने आप को वैक्सीनेटेड रखें। अब आप यह सोच रहे होंगे कि हमें एसटीआई टेस्ट कब करवाना चाहिए या फिर हमें एसटीआई टेस्ट कितने समय में करवाना चाहिए?

यदि आप सेक्शुअली एक्टिव हैं, तो आपको इन समय पर एसटीआई टेस्ट करवाना चाहिए:

• एक नए पार्टनर के साथ सेक्सुअल रिलेशनशिप बनाने से पहले।

• यदि आपने किसी के साथ अनप्रोटेक्टेड सेक्स किया है।

• यदि आपने एक से अधिक या मल्टीपल पार्टनर के साथ सेक्स किया है।

• यदि आपको लग रहा है कि आप एसटीआई से एक्सपोज हुए हैं, तब भी तसल्ली के लिए आप टेस्ट करवा सकते हैं।

• यदि आपको एसटीआई या एसटीडी के सिम्टम्स नजर आ रहे हैं, तो भी अपने डॉक्टर से तुरंत बात करें।

• डॉक्टर आपके सिम्टम्स देखकर और आपकी शारीरिक जांच करके, आपको क्लैमीडिया टेस्ट या फिर सिफलिस के लिए वीडीआरएल टेस्ट भी कह सकते हैं।

** Disclaimer – यह सार्वजनिक रूप से एकत्रित की हुई जानकारी है। यदि आपको किसी विशिष्ट सलाह की आवश्यकता है, तो कृपया डॉक्टर से परामर्श करें।

Email us at connect@shethepeople.tv