Stop Apologising For Everything : इन बातें के लिए महिलाओं को सॉरी (Sorry) फील नहीं करना चाहिए। 

Stop Apologising For Everything : इन बातें के लिए महिलाओं को सॉरी (Sorry) फील नहीं करना चाहिए।  Stop Apologising For Everything : इन बातें के लिए महिलाओं को सॉरी (Sorry) फील नहीं करना चाहिए। 

SheThePeople Team

11 Sep 2021


 इन बातें के लिए महिलाओं को सॉरी (Sorry) फील नहीं करना चाहिए। जब आपकी कोई गलती ना हो तब सॉरी बोलना या फील करने की कोई जरूरत नहीं है। हम अक्सर काफी बार बिना सोच समझे ऐसे ही सॉरी बोल देते है जिसका कोई तात्पर्य भी नहीं होता। बात बात पर सॉरी बोल देना जब की वो उसे बिल्कुल विपरीत सोच से भरी हुई होती है। ये एक आदत बन गई है ना ज़ाने कितनी महिलाओं की।

4 बातें जिसके लिए महिलाओं को सॉरी (Sorry) फील नहीं करना चाहिए। 4 things you shouldn't be apologising for. 

1. अपना स्टैंड लेना : अगर आप किसी विषय पर अपना पक्ष रखते हुए अपने लिए स्टैंड लेते है उसके लिए कभी भी माफी ना मांगे। हर व्यक्ति की एक अलग सोच होती है और हम वो बदल नहीं सकते इसलिए आप पक्ष रखने से कभी भी दरी मत और दूसरे से माफी ना मांगे अगर आप दोनों की सोच ना मिले तो। 

2. गलती हमेशा आपकी नहीं होतो : लोग गलती करते है और उसे सीखते है। लेकिन आपकी अपने मन से ये विचार निकाल दे की हमेशा हर गलती आपकी ही है। और अगर आपसे कोई चोटी चोटी गलतियां हो भी जाए तो उसमें सुधार लाने के बारे में सोचे और सॉरी बोलने की जगह। बार बार सॉरी बोलने से आपका खुद का मनोबल कम होगा। 

3. जिससे आपको खुशी मिले : हम अपने जीवन में मां बाप, समाज के डर की वजह से नाजने कितनी चीजे जो हमें खुशी देती है उसे अनसुना और अनदेखा कर देते है। हमारी खुशी पर रोक लगाने पर क्या कभी उन्होंने हमसे माफी मांगी है, हमे समझने की कोशिश की है? तो फिर हम क्यों दूसरो की खुशियों को अपनी खुशियों से पहले रखते है। अपने सपने कि तरफ कदम उठाने से पहले माफी मांगते है। 

4. अपने आप को दूसरो से ज्यादा महत्त्व देना : हमेशा अपने आप को, अपने सपनों को, दूसरो से जड़ा महत्त्व देना चाइए। क्युकी आने वाले समय में आपका साथ कोई नहीं देगा बल्कि आप खुद दोगे। लोग आपको स्वार्थी, अभिमानी, कहेंगे लेकिन उनके सामने कभी भी झुकना नहीं और माफी नहीं मांगना चाहे लाख दिकत्ते आए। 

ये कुछ बातें है जिनके लिए आपको कभी किसी के सामने माफी मांगने की जरूरत नहीं है। माफी दिल से मांगी जाती है और जब तक आपका दिल आपको ना बोले तब तक किसी को सॉरी बोलने कि जरूरत नहीं है। 








अनुशंसित लेख